page contents

पति कौन ? Vikram Betal Stories in Hindi

पति कौन ? Vikram Betal Stories in Hindi (विक्रम बेताल स्टोरीस इन हिन्दी)  दोस्तों स्वागत है आपका ज्ञान से भरी  कहानियों की इस रोचक दुनिया मे। दोस्तों जीवन मे कहानियों का विशेस महत्तव होता है | क्योकि इन कहानियो के माध्यम से हमे बहुत कुछ सीखने को मिलता है |

इन कहानियों के माध्यम से आपको ज़रूरी ज्ञान हासिल होंगे जो आपको आपकी लाइफ मे बहुत काम आएंगे | यहाँ पर बताई गई हर कहानी से आपको एक नई सीख मिलेगी जो आपके जीवन मे बहुत काम आएगी |

हर कहानी मे कुछ न कुछ संदेश और सीख (moral )छुपी हुई है | तो ऐसी कहानियो को ज़रूर पढ़े और अपने दोस्तो और परिवारों मे भी ज़रूर शेयर करे |

 

50 रोचक कहानियाँ | Vikram Betal Stories in Hindi

 

 

 

Vikram Betal Stories in Hindi-विक्रम बेताल की रोचक कहानियां

पति-कौन-Vikram-Betal-Stories-in-Hindi

 

बेताल द्वारा राजा विक्रम (Vikram) को सुनाई गई पच्चीस कहानियों मे से एक कहानी आज  बताई जाएगी  जिसमे  पहली कहानी पिछले आर्टिकल मे बता दी गई है |

बेताल द्वारा राजा विक्रम को सुनाई गई इन सभी कहानियों का उल्लेख “बेताल पच्चीसी” नामक  एक किताब मे मिलता है यह किताब बेताल भट्ट जी द्वारा आज से  लगभग 2500 वर्ष पहले  लिखी  गई थी जो की राजा विक्रमा दित्य के 9 रत्नो मे से एक थे |

यहाँ पर इस किताब का नाम “बेताल पच्चीसी” इसलिए रखा गया है क्योंकि इस किताब मे बेताल द्वारा विक्रमादित्य को सुनाई गई 25 कहानियों के बारे मे बताया गया है यह किताब उन्ही 25 कहानियों पर आधारित है |

 

 

कहानी शुरू करने से पहले बेताल राजा को फिर से वही बात बोलता है की मैं कहानी के खत्म होते ही तुमसे (राजा विक्रम) कहानी से जुड़ा कोई प्रश्न पूछूंगा  यदि राजा विक्रम ने उसके प्रश्न का सही  उत्तर ना दिया तो वह राजा विक्रम को मार देगा। और अगर राजा विक्रम ने जवाब देने के लिए मुंह खोला तो वह रूठ कर फिर से  पेड़ पर जा कर उल्टा लटक जाएगा।

 

 

 

तो चलिये शुरू करते है हमारी आज की कहानी 

Advertisement

कहानी 4 –पति कौन ? (बेताल पच्चीसी भाग -4) 

धर्म स्थान नाम का एक शहर था जो की यमुना के किनारे  बसा हुआ था । उस नगर में  जो राजा राज करता था उसका नाम गणाधिप था। उसी राज्य में केशव नाम का एक ब्राह्मण भी रहता था। ब्राह्मण यमुना के तट पर जप-तप  और यज्ञ  किया करता था। उसकी एक पुत्री थी, जिसका नाम मालती था।

 

मालती  बड़ी रूपवान  थी। जब वह विवाह  के योग्य हुई तो उसके माता, पिता और भाई को चिन्ता हुई। संयोग से एक दिन जब ब्राह्मण अपने किसी रिश्तेदार  की बारात में गया था और  उधर लड़की का भाई (ब्राह्मण का बेटा) पढ़ने गया  हुआ था, तभी उनके घर में एक ब्राह्मण का लड़का आया।

पति कौन ? Vikram Betal hindi Stories

लड़की की माँ ने उसके रूप और गुणों को देखकर उससे कहा कि मैं तुमसे अपनी लडकी की शादी  करूँगी। माँ जी ने  लड़के को वचन दे दिया  उधर ब्राह्मण पिता को भी वहाँ रिश्तेदार की शादी मे  एक दूसरा लड़का मिल गया  जो की ब्राह्मण को बहुत पसंद आया |

पति कौन ? Vikram Betal hindi Stories

 

ब्राह्मण और  लड़के मे खूब देर तक बाते चलती है | ब्राह्मण को उस लड़के का स्वभाव इतना पसंद आता है की बात ब्राह्मण की बेटी की शादी तक जा पहुँचती है |

ब्राह्मण अपनी बेटी की शादी का प्रस्ताव उस लड़के   के सामने रख देता है |उधर लड़का भी यह सुन कर  मन ही मन अति प्रसन्न हो जाता है और लड़का  यह सोच कर की ब्राह्मण की पुत्री है तो रूपवान के साथ साथ गुणवान भी होगी !

शादी के प्रस्ताव को मान  लेता है और शादी करने के लिए हा कर देता है | इस प्रकार ब्राह्मण ,  लड़के को अपनी बेटी की शादी करने का वचन दे देता है |

पति कौन ? Vikram Betal hindi Stories

 

उधर ब्राह्मण का लड़का जहाँ पढ़ने गया था,  वहाँ  उस ब्राह्मण लड़के को एक लड़का इतना पसंद आता है की वह भी उस लड़के से अपने बहन की शादी का  यही वादा कर आया।

 

 

 

 

 

कुछ समय बाद बाप-बेटे घर में इकट्ठे हुए तो देखते क्या हैं कि वहाँ एक तीसरा लड़का और मौजूद है। दो उनके साथ आये थे। यह घटना देख तीनों लोग ( ब्राह्मण – ब्राह्मण का बेटा – और ब्राह्मण की पत्नी) सोच मे पड़ गए ।पति कौन ? 

 

Advertisement

दुर्भाग्यवश से यह हुआ  कि लड़की को साँप ने काट लिया और वह मर गयी। उसके बाप, भाई और तीनों लड़कों ने बड़ी भाग-दौड़ की, ज़हर झाड़ने वालों को बुलाया, पर कोई नतीजा न निकला। हर कोई अपनी अपनी कोसिस करके चले जाते है ।

पति कौन ? Vikram Betal hindi Stories

 

 

दु:खी होकर वे उस लड़की को श्मशान में ले गये और क्रिया-कर्म कर दिया । तीनों लड़कों में से एक ने तो उसकी हड्डियाँ चुन लीं और फकीर बनकर जंगल में चला गया। दूसरे ने जली हुई  चिता  मे पड़ी राख की गठरी बाँधी और वहीं झोपड़ी डालकर रहने लगा। तीसरा योगी होकर देश-देश घुमने लगा।

 

एक दिन की बात है, वह तीसरा लड़का घूमते-घामते किसी नगर में पहुँचा और एक ब्राह्मणी के घर भोजन करने बैठ जाता है । जैसे ही उस घर की ब्राह्मणी भोजन परोसने आयी कि उसके छोटे लड़के ने उसका आँचल पकड़ लिया। ब्राह्मणी अपना आचल नहीं छूटा पाती।

पति कौन ? Vikram Betal hindi Stories

 

ब्राह्मणी को बड़ा गुस्सा आया। उसने अपने लड़के को झिड़का, मारा-पीटा, फिर भी वह न माना तो ब्राह्मणी ने उसे उठाकर जलते चूल्हें में पटक दिया। लड़का जलकर राख हो गया। यह  देख ब्राह्मण बिना भोजन किये ही उठ खड़ा हुआ। घरवालों ने बहुत मनाया  की भोजन कर लो , पर वह भोजन करने के लिए राजी न हुआ।

 

उसने कहा जिस घर में ऐसी राक्षसी हो, उसमें मैं भोजन नहीं कर सकता।

इतना सुनकर वह ब्राह्मणी  का पति भीतर गया और संजीवनी विद्या की पोथी लाकर एक मन्त्र पढ़ा। जलकर राख हो चुका लड़का फिर से जीवित हो गया।

 

यह देखकर ब्राह्मण सोचने लगा कि अगर यह पोथी मेरे हाथ पड़ जाये तो मैं भी उस लड़की को फिर से ज़िंदा कर सकता हूँ। इसके बाद उसने भोजन किया और वहीं ठहर गया। जब रात को सब खा-पीकर सो गये तो वह ब्राह्मण चुपचाप वह पोथी लेकर चल दिया।

पति कौन ? Vikram Betal hindi Stories

जिस स्थान पर उस लड़की को जलाया गया था, वहाँ जाकर उसने देखा कि दूसरे लड़के वहाँ बैठे बातें कर रहे हैं। इस ब्राह्मण के यह कहने पर कि उसे संजीवनी विद्या की पोथी मिल गयी है और वह मन्त्र पढ़कर लड़की को जिला सकता है, उन दोनों ने हड्डियाँ और राख निकाली। ब्राह्मण ने जैसे ही मंत्र पढ़ा, वह लड़की जी उठी। अब तीनों उसके पीछे आपस में झगड़ने लगे।

 

इतना कहकर बेताल बोला, “राजा, बताओ कि वह लड़की किसकी स्त्री होनी चाहिए?”

राजा ने जवाब दिया, “जो वहाँ कुटिया बनाकर रहा, उसकी।”

Advertisement

बेताल ने पूछा, “क्यों?”

राजा बोला, “जिसने हड्डियाँ रखीं, वह तो उसके बेटे के बराबर हुआ। जिसने विद्या सीखकर जीवन-दान दिया, वह बाप के बराबर हुआ। जो राख लेकर रमा रहा, वही उसकी हक़दार है।”

 

पति कौन ? Vikram Betal hindi Stories

 

इसके बाद ठीक शर्त के मुताबिक बेताल  राजा विक्रम के सही उत्तर देने के बाद  राजा विक्रम की पीठ से उड़ कर वापिस पेड़ की ओर चला जाता है और पेड़ पर उल्टा लटक जाता है |

 

राजा फिर से बेताल को चलने के लिए मनाता है और बेताल राजा पीठ पर फिर से बैठ जाता है इसके बाद फिर  से वही घटना – रास्ता लंबा होने की वजह से बेताल राजा को कहानी सुनता है | पति कौन ? Vikram Betal Stories in Hindi

 

अगली कहानी (#कहानी-5)  पढ़ने के लिए इस पर click करे 

 

 

 

दोस्तों ये कहानी आपको कैसी लगी? दोस्तो इस कहानी (motivational story) से आपको क्या सीख मिलती है ? नीचे कमेंट करके जरूरु बताना। और इस जानकारी (article) को जादा से जादा लोगो तक शेयर करना ताकि उन तक भी यह  पहुच सके।

 

 

vikram betal के रोचक  किस्से – hindi moral stories

 

यहां click करे – विक्रम बेताल की पहली कहानी तांत्रिक की चाल  (बेताल पच्चीसी)

यहां click करे- विक्रम बेताल कहानी भाग-2 जादुई टापू  (बेताल पच्चीसी)

Advertisement

यहां click करे- विक्रम बेताल कहानी भाग-3  राजकुमारी का विवाह (पांपी कौन ?) (बेताल पच्चीसी)

यहां click करे- विक्रम बेताल कहानी भाग-4  पति कौन? (बेताल -पच्चीसी)

यहां click करे- विक्रम बेताल कहानी भाग-5  सिपाही सहित पूरे परिवार की बलि (पुण्य किसका) (बेताल पच्चीसी)

यहां click करे – विक्रम बेताल कहानी भाग-6   तोता मैना ने सुनाई कहानी -अधिक पापी कौन ?(बेताल पच्चीसी)

यहां click करे -विक्रम बेताल कहानी भाग-7  तीन वर और राक्षस (बेताल पच्चीसी)

यहां click करे -विक्रम बेताल कहानी भाग-8  रामसिंह का प्यार और माँ काली की शर्त (बेताल पच्चीसी)

यहां click करे -विक्रम बेताल कहानी भाग-9 साधू का वरदान (बेताल पच्चीसी)

यहां click करे -विक्रम बेताल कहानी भाग-10 असली शापित कौन ? (तीन शापित इंसान)   (बेताल पच्चीसी)

यहां click करे -विक्रम बेताल कहानी भाग-11  साधू की माला और चुड़ैल  (बेताल पच्चीसी)

 

जिंदगी बादल देने वाली ज्ञान से भारी 100 रोचक कहानियाँ 

 

ज्ञान से भरी किस्से कहानियों का रोचक सफर | यहाँ मिलेंगे आपको तेनाली रामा और बीरबल की चतुराई से भरे किस्से ,  विक्रम बेताल की कहनियों का रोचक सफर , भगवान बुद्ध  कहानियाँ , success and motivational stories और ज्ञान से भरी धार्मिक कहानियाँ 

 

moral-stories-in-hindi

Advertisement

3 thoughts on “पति कौन ? Vikram Betal Stories in Hindi”

Leave a Comment