page contents

असली शापित कौन? Vikram Betal Stories Hindi

Vikram Betal Stories in Hindi (विक्रम बेताल स्टोरीस इन हिन्दी)  – दोस्तों स्वागत है आपका ज्ञान से भरी  कहानियों की इस रोचक दुनिया मे। दोस्तों जीवन मे कहानियों का विशेस महत्तव होता है | क्योकि इन कहानियो के माध्यम से हमे बहुत कुछ सीखने को मिलता है |

 

इन कहानियों के माध्यम से आपको ज़रूरी ज्ञान हासिल होंगे जो आपको आपकी लाइफ मे बहुत काम आएंगे | यहाँ पर बताई गई हर कहानी से आपको एक नई सीख मिलेगी जो आपके जीवन मे बहुत काम आएगी | हर कहानी मे कुछ न कुछ संदेश और सीख (moral )छुपी हुई है | तो ऐसी कहानियो को ज़रूर पढ़े और अपने दोस्तो और परिवारों मे भी ज़रूर शेयर करे |

 

50 रोचक कहानियाँ | Vikram Betal Stories in Hindi

 

 

 

Vikram Betal Stories in Hindi-विक्रम बेताल की रोचक कहानियां

 

vikram-betal

 

बेताल द्वारा राजा विक्रम (Vikram) को सुनाई गई पच्चीस कहानियों मे से एक कहानी आज  बताई जाएगी  जिसमे  पहली कहानी पिछले आर्टिकल मे बता दी गई है | बेताल द्वारा राजा विक्रम को सुनाई गई इन सभी कहानियों का उल्लेख “बेताल पच्चीसी” नामक  एक किताब मे मिलता है यह किताब बेताल भट्ट जी द्वारा आज से  लगभग 2500 वर्ष पहले  लिखी  गई थी जो की राजा विक्रमा दित्य के 9 रत्नो मे से एक थे |यहाँ पर इस किताब का नाम “बेताल पच्चीसी” इसलिए रखा गया है क्योंकि इस किताब मे बेताल द्वारा विक्रमादित्य को सुनाई गई 25 कहानियों के बारे मे बताया गया है यह किताब उन्ही 25 कहानियों पर आधारित है |

 

 

कहानी शुरू करने से पहले बेताल राजा को फिर से वही बात बोलता है की मैं कहानी के खत्म होते ही तुमसे (राजा विक्रम) कहानी से जुड़ा कोई प्रश्न पूछूंगा  यदि राजा विक्रम ने उसके प्रश्न का सही  उत्तर ना दिया तो वह राजा विक्रम को मार देगा। और अगर राजा विक्रम ने जवाब देने के लिए मुंह खोला तो वह रूठ कर फिर से  पेड़ पर जा कर उल्टा लटक जाएगा।

 

तो चलिये शुरू करते है हमारी आज की कहानी 

#कहानी 10 – असली शापित कौन?

(बेताल पच्चीसी भाग -10) 

 

vikram-betal

अंग देश मे एक बहुत ही धनी राजा रहता था | राजा अपनी प्रजा का बहुत ध्यान रखता था | राजा बहुत ही लोकप्रिय और न्यायवादी था  कभी किसी के साथ अन्याय नहीं होने देता था |अंग देश के लोग राजा से  बहुत खुश  थे| राजा अपने  धार्मिक स्वभाव के चलते एक दिन पूरे राज्य की सुख स्मृधी के लिए एक बहुत बड़े यज्ञ का आयोजन करता है |
असली शापित कौन? Vikram Betal Stories in Hindi
एक बहुत जाने माने  गुरु विशिस्ट द्वारा  इस यज्ञ का श्री गणेश किया जा रहा था | यज्ञ दो दिन बाद होना था इसलिए महारिशी विशिस्ट जी ने राजा को पहले ही यज्ञ के लिए सभी ज़रूरी सामग्री लिखवा दी थी | आखिर मे महारिशी विशिस्ट जी राजा को बोलते है की इस यज्ञ मे एक विशेस सामग्री की आहुति के लिए  एक  शापित इंसान की आवश्यकता पड़ेगी | यह इस यज्ञ कि विधि है , इसके बिना यज्ञ समप्न्न नहीं हो सकता | 
असली शापित कौन? Vikram Betal Stories in Hindi
राजा पूरे नगर मे यह घोषणा करवा  देते है की जो कोई भी शापित इंसान  सुबह होने से पहले पहले राजा के महल मे पहुंचेगा उसे  100 सोने की मोहरे दी जाएगी | इस लालच मे तीन शापित इंसान राजा के महल मे सुबह होने से पहले पहले पहुँच जाते है | अब राजा कहने लगा हमे तो एक ही चाहिए | तो राजा इन तीनों को अलग कमरे मे विश्राम करने को बोलता है | राजा फिर अपने विद्वान मंत्री से  बोलता है की इन तीनों की परीक्षा लो इनमे से जो  सच्च बोल रहा है उसी को यज्ञ के लिए चुना जाएगा |
असली शापित कौन? Vikram Betal Stories in Hindi
तब मंत्री जी तीनों की परीक्षा लेते है |  कि यह लोग सच मे शापित है या झूठ बोल रहे है |
पहला वाला बोलता है मैं भोजन चंग  शापित हूँ | यानि  शुद्ध भोजन ही ग्रहण  कर सकता हूँ | अशुद्ध भोजन  का मुझे तुरंत पता लग जाता है |
दूसरा वाला बोलता है मैं नारी चंग शापित हूँ |
तीसरा बोलता है -मैं शैया (बिस्तर) चंग हूँ
अब मंत्री जी सच का पता लगाने के लिए तीनों को अलग अलग कमरे मे भेज देते है |
मंत्री जी सबसे पहले भोजन चंग शापित वाले के कमरे मे जाते है यह पता लगाने के लिए की वह सच मे शापित है या नहीं | मंत्री जी  ने  तुरंत भोजन बनवाने का हुक्म दिया | कुछ समय बाद भोजन को उस शापित इंसान के सामने प्रस्तुत किया गया | जैसे ही वह खाने बैठा  उसने भोजन करने से मना कर दिया और उठ खड़ा हुआ | मंत्री जी ने पूछा क्या हुआ महाशय ? आप भोजन क्यों नहीं कर रहे ? तब शापित इंसान बोला इसमे मुर्दे की गंध आरही है  यह भोजन अशुद्ध है इसलिए मैं यह भोजन नहीं करूंगा |
शापित इंसान की यह बात  सुन कर  मंत्री जी को उस पर  यह विश्वास हो जाता है की यह सच मे भोजन चंग शापित इंसान है इसे भोजन कि पहचान है कि भोजन शुद्ध है या अशुद्ध – क्योकि मंत्री जी के हुक्म पर ही   वो भोजन शमशान मे बनाया गया था ताकि वो भोजन अशुद्ध हो जाए | जब यह भोजन इस भोजन चंग शापित इंसान के पास रखा गया तो इसको तुरंत पता लग गया कि यह भोजन अशुद्ध है | 
इसके बाद मंत्री जी नारी चंग शापित के कमरे मे जाते है सच का पता लगाने के लिए कि यह सच मे नारी चंग शापित है या 
नहीं ,इसके लिए मंत्री जी एक सुंदर स्त्री  को  उस शापित इंसान के पास भेजते है मंत्री जी कमरे से बाहर चले जाते है | अगले ही पल स्त्री कमरे से जब बाहर अति है तो मंत्री जी पूछते है तुम इतनी जल्दी कमरे क्यों भाग आई तब वह सुंदर स्त्री बोलती है कि – जब मे उसके करीब गई तो वह तुरंत बोलने लगा कि तुमसे बकरी के दूध कि गंध आरही है दूर करो इस स्त्री को मुझसे फिर वो मुझसे दूर हट गया | यह सुन मंत्री जी को उस  शापित इंसान पर भी यकीन हो गया कि यह सच मे नारी चंग शापित इंसान है |  क्योकि वो नारी एक बंजारन थी जो बचपन से ही एक बकरी का दूध पी कर बड़ी हुई थी|
असली शापित कौन? Vikram Betal Stories in Hindi
अब मंत्री जी तीसरे शापित इंसान के कमरे मे जाते है | सच का पता लगाने के लिए मंत्री जी उस शैया (बिस्तर) चंग  शापित इंसान के  लिए  एक खास 7 गद्दो का बिस्तर तैयार करवाते है  मंत्री जी  चुपके से उन गद्दो के नीचे सर का एक बाल छुपा देता है 
असली शापित कौन? Vikram Betal Stories in Hindi
जैसे ही वह शापित इंसान  उस गद्दे  पर लेटा कि एकदम चीखकर उठ बैठा। लोगों ने देखा, उसकी पीठ पर एक लाल रेखा खींची थी। राजा को ख़बर मिली तो उसने बिछौने को दिखवाया। सात गद्दों के नीचे उसमें एक बाल निकला। उसी से उसकी पीठ पर लाल लकीर हो गयी थीं। मंत्री यह सब देख कर हैरान रह  गया यह और बोलने लगा कि यह  तो लाल निशान ठीक उसी बाल  के बराबर का ही है यानि जो बाल मैंने नीचे गद्दो मे चौपाया था उसका निशान इसके पीठ पर आया | मतलब यह सच मे शापित है |
असली शापित कौन? Vikram Betal Stories in Hindi
अब इतने मे बेताल अपनी कहानी सुनाना बंद कर देता है  बेताल बोला, “हे राजा! तुम बताओ, उन तीनों में से असली शापित कौन था ?
राजा ने कहा, “मेरे विचार से सबसे बढ़कर शैयाचंग था, क्योंकि उसकी पीठ पर बाल का निशान दिखाई दिया और ढूँढ़ने पर बिस्तर में बाल पाया भी गया। बाकी दो के बारे में तो यह कहा जा सकता है कि उन्होंने किसी से पूछकर जान लिया होगा।

 

 

Advertisement

इसके बाद ठीक शर्त के मुताबिक बेताल  राजा विक्रम के सही उत्तर देने के बाद  राजा विक्रम की पीठ से उड़ कर वापिस पेड़ की ओर चला जाता है और पेड़ पर उल्टा लटक जाता है |

 

राजा फिर से बेताल को चलने के लिए मनाता है और बेताल राजा पीठ पर फिर से बैठ जाता है इसके बाद फिर  से वही घटना – रास्ता लंबा होने की वजह से बेताल राजा को कहानी सुनता है | 

असली शापित कौन? Vikram Betal Stories in Hindi

 

 

अगली कहानी (#कहानी-11)  पढ़ने के लिए इस पर click करे 

 

 

दोस्तों ये कहानी आपको कैसी लगी? दोस्तो इस कहानी (motivational story) से आपको क्या सीख मिलती है ? नीचे कमेंट करके जरूरु बताना। और इस जानकारी (article) को जादा से जादा लोगो तक शेयर करना ताकि उन तक भी यह  पहुच सके।

 

और यदि आपके पास भी कोई motivational story  , या कोई भी ऐसी ज़रूरी सूचना  जिसे आप लोगो तक पहुचाना   चाहते हो तो वो आप हमे इस मेल  (mikymorya123@gmail.com) पर अपमा नाम और फोटो सहित send कर सकते है ।  उसे हम आपके द्वारा सेंद की हुई article के साथ लगा कर यहा पोस्ट करेंगे जितना अधिक ज्ञान बाटोगे उतना ही अधिक ज्ञान बढेगा। धन्यवाद.

 

 

यहा click करे –  जानिए हनुमान जी को सिंदूर क्यों चढ़ाया जाता है ? क्या सच्च मे हनुमान जी को सिंदूर चढ़ाना सही है ? क्या प्रभाव पड़ता है हनुमान जो को सिंदूर लगाने से ? क्या हुआ था जब हनुमान जी पूरे शरीर मे सिंदूर लगा कर भगवान श्री राम जी के सामने आए थे? जानने के लिए यहा click करे और जानिए धर्म से जुड़े रोचक तथ्य 

तीन वर और राक्षस Vikram Betal Stories in Hindi

 

vikram betal के रोचक  किस्से – hindi moral stories

 

यहां click करे – विक्रम बेताल की पहली कहानी तांत्रिक की चाल  (बेताल पच्चीसी)

Advertisement

यहां click करे- विक्रम बेताल कहानी भाग-2 जादुई टापू  (बेताल पच्चीसी)

यहां click करे- विक्रम बेताल कहानी भाग-3  राजकुमारी का विवाह (पांपी कौन ?) (बेताल पच्चीसी)

यहां click करे- विक्रम बेताल कहानी भाग-4  पति कौन? (बेताल -पच्चीसी)

यहां click करे- विक्रम बेताल कहानी भाग-5  सिपाही सहित पूरे परिवार की बलि (पुण्य किसका) (बेताल पच्चीसी)

यहां click करे – विक्रम बेताल कहानी भाग-6   तोता मैना ने सुनाई कहानी -अधिक पापी कौन ?(बेताल पच्चीसी)

यहां click करे -विक्रम बेताल कहानी भाग-7  तीन वर और राक्षस (बेताल पच्चीसी)

यहां click करे -विक्रम बेताल कहानी भाग-8  रामसिंह का प्यार और माँ काली की शर्त (बेताल पच्चीसी)

यहां click करे -विक्रम बेताल कहानी भाग-9 साधू का वरदान (बेताल पच्चीसी)

यहां click करे -विक्रम बेताल कहानी भाग-10 असली शापित कौन ? (तीन शापित इंसान)   (बेताल पच्चीसी)

यहां click करे -विक्रम बेताल कहानी भाग-11  साधू की माला और चुड़ैल  (बेताल पच्चीसी)

 

Advertisement