page contents

अंगूठी चोर | akbar birbal stories in hindi

 अंगूठी चोर | akbar birbal stories in hindi – दोस्तों स्वागत है आपका अकबर बीरबल (akbar birbal) के किस्से कहानियों की  इस रोचक दुनिया मे | यहाँ पर आपको motivational stories के साथ moral stories से मिलने वाले ज्ञान से रुबारू करवाया जाता है |

यहाँ हम आपके लिए ऐसी motivational stories लेकर आते है ,जिसे पढ़ने से आपके जीवन मे न सिर्फ एक सकारात्मक बदलाव आता है बल्कि आप अपनी ज़िंदगी मे वो सब कुछ हासिल कर पाते हो जिनकी आपने कल्पना की थी  –

यहाँ हम आपके लिए moral stories भी लेकर आते है हर कहानी मे एक सीख जरूर छुपी होती है  जिनसे आपको  बहुत कुछ सीखने को मिलता  है जो आपकी ज़िंदगी मे बहुत काम  आती है |

 

 

akbar birbal ki kahaniyan –  अंगूठी चोर akbar birbal stories in hindi


दोस्तो ऐसी ही हजारो शिक्षा प्रद , लोकप्रिय और रोचक कहानियों का सफर हम आप तक लेकर आए है जिन्हे लोगों ने बचपन मे अपने दादा दादी – या  नाना- नानी  से सुनी होती है या फिर टीवी मे देखी होती है | लेकिन यहाँ पर आपको ऐसी बहुत सी शिक्षा प्रद , लोकप्रिय और रोचक कहानियाँ मिलेंगी जिसे शायद ही आपने कही सुनी होंगी | तो पढ़ते रहिए ऐसी कहानियाँ और सीखते रहिए एक नई सीख  ,साथ मे ऐसी शिक्षा प्रद कहानियाँ  अपने दोस्तो को भी शेयर करते रहिए |


 

 

 

 

दोस्तो बीरबल एक बहुत ही बुद्धिमान  इंसान था | बादशाह अकबर के राज दरबार मे बीरबल से बुद्धिमान और कोई नहीं था बीरबल – अकबर  (akbar birbal) के 9 रत्नो मे से एक था | बादशाह अकबर  बीरबल की बिद्धिमानी का लोहा मानते थे |बीरबल (birbal) की बुद्धिमानी के किस्से दुनिया भर मे लोकप्रिय है  | आज दुनिया भर मे बीरबल की कहानियों को लोग बड़े उत्तसह से पढ़ते है और टीवी पर भी देखते है जिससे हमे बहुत कुछ सीखने को मिलता है |

 

 

हमारी आज की पहली कहानी है

 अंगूठी चोर | akbar birbal stories in hindi 

 

akbar-birbal-stories-in-hindi

 

 

बादशाह अकबर (akbar) को उनकी पत्नी ने एक बहुत प्यारी कीमती रत्न से जड़ित अंगूठी  उपहार  दी थी |  बादशाह अकबर (akbar) उस अंगूठी  से  बहुत प्यार करते थे और संभाल कर रखते थे | यह बात दरबार मे सभी जानते थे की बादशाह की वह अंगूठी कितनी सुंदर और कीमती है | वह रात को सोने से पहले  अक्सर अंगूठी निकाल कर उसे  पीतल के एक छोटे से कटोरे मे रख देते थे ताकि इसकी शुद्धता और चमक बनी रहे |

Advertisement

 

एक बार ऐसी ही सभा खत्म होने के बाद बादशाह अकबर (akbar) के  सोने का वक़्त हुआ और वह सोने के लिए अपने कक्ष मे चले गए | हमेशा की तरह बादशाह  सोने से पहले  उस अंगूठी को उतार कर पीतल के बर्तन मे डाल  कर सो गए |

 

अगले ही दिन जब बादशाह अकबर (akbar) सो कर उठे तो उनकी नज़र सबसे पहले उस पीतल के बर्तन पर गई जिसमे उन्होने वह अंगूठी रात को सोने से पहले डाली थी | बादशाह अकबर (akbar) यह देख कर की अंगूठी उस बर्तन मे नहीं है एक, दम  से  चौक जाते है और अंगूठी को इधर उधर  खोजने लगते है | अंगूठी  न मिलने पर बादशाह अकबर (akbar) बहुत चिंतित हो जाते है |

akbar birbal ki kahaniyan –  अंगूठी चोर akbar birbal stories in hindi

रोज़ की तरह जैसे ही दरबार लगता है बादशाह अकबर (akbar) तैयार होकर राजदरबर पहुँच  जाते है | बादशाह अकबर (akbar) सिंहासन पर बैठे अभी भी उस अंगूठी के बारे बार बार सोच रहे थे जिसकी वजह से चिंता की लकीरे उनके चेहरे पर साफ झलक रही थी | बादशाह अकबर (akbar) को गुमसुम बैठा देख बीरबल  समझ  जाता है की जहापना किसी चिंता मे डूबे है और कुछ  सोच रहे है |

 

इतने मे बीरबल (birbal) बोलता है , जहापना क्या बात है आज आप बहुत चिंतित से दिखाई दे रहे हो ? 

बादशाह अकबर (akbar) बीरबल (birbal)  को अपने चिंता का कारण बता देते है | और बोलते है की पूरे कक्ष मे मैंने खोज लिया लेकिन वह अंगूठी नहीं मिली , पता नहीं कहाँ चली गई कौन ले गया ?

 

यह सुनते ही तुरंत बीरबल (birbal) बादशाह के कक्ष के बाहर खड़े पहरा देने वाले दरबारी को राजदरबर मे बुलवाता है | बीरबल (birbal)  उस दरबारी से पूछता है की रात से सुबह होने तक बादशाह अकबर (akbar) के कक्ष मे क्या कोई  गया था ? 

दरबारी  तुरंत उत्तर देता हुआ बोलता है की नहीं  बद्श्श के कक्ष मे तो कोई नहीं गया था |

 

akbar birbal ki kahaniyan –  अंगूठी चोर akbar birbal stories in hindi

बीरबल  (birbal) उस दरबारी से दूसरा सवाल पूछता  है की –  रात से सुबह तक राज महल अंदर कुल कितने लोग  होते है ? दरबारी तुरंत जवाब देता है की – यही कुछ 40 लोग  जिसमे 20 सैनिक 15 दरबारी और 5 दसिया होती है |

दरबारी की यह बात सुनते ही उन सभी 40 लोगो को दरबार मे एक साथ इकट्ठा होने को कहा गया | वो 40 लोग एक साथ दरबार मे इकट्ठे हों जाते है |

 

akbar birbal ki kahaniyan –  अंगूठी चोर akbar birbal stories in hindi

 

अब बीरबल (birbal) उन सभी से एक ही बात बोलता है – यदि आप लोगो मे से किसी ने भी जहापना की अंगूठी चुराई है तो वह सामने आए और अपना  अपराध कबूल करे  वादा करता हु उसे कोई दंड नहीं दिया जाएगा |

Advertisement

बीरबल (birbal) की बात सुन कर चोर सामने निकल कर नहीं आया | तभी तुरंत बीरबल के मन मे चोर का पता लगाने का एक एक उपाय आता है |

 

akbar birbal ki kahaniyan –  अंगूठी चोर akbar birbal stories in hindi

 

बीरबल (birbal) बादशाह अकबर (akbar) से बोलता है की –

जहापना  दूसरे नगर मे काली माँ का एक मंदिर है  गाव के लोग  उस मंदिर मे स्थित काली माँ की मूर्ति की बहुत पूजा करते और बहुत मानते है | उस  गाँव मे जब भी कोई चोरी होती है तो उन लोगो को जिस इंसान पर शक होता है  वे उसे  पकड़ कर काली माँ के मंदिर ले जाते है और उसे काली माँ के कदमो मे रखे हुए नारियल को छूने के लिए कहते है | अगर वो इंसान सच मे चोर होगा  तो काली माँ उस मंदिर के पुजारी के सपनों मे अति है और उस चोर का नाम और चेहरा दिखा कर चली जाती है | इस वजह से अब उस गाव मे कोई चोरी नहीं करता |तो इन लोगो को भी वही ले चलते है जिससे असली चोर का पता लगाया जा सके |

 

बीरबल (birbal) जन बूझ कर  यह सारी बात  इतने   ऊचे स्वर मे बादशाह अकबर (akbar) को बताता है ताकि  वो 40 लोग अच्छे से बीरबल की बात को सुन सके |

 

अब सभी को काली माँ  के मंदिर  मे  ले  जाया जाता है जहां सभी बारी बारी से काली माँ के कदमो के नीचे रखे नारियल को छूते हैं | जब सभी नारियल को छू चुके होते है तो सभों को एक सीधी लाइन मे खड़े होने के लिए बोला जाता है |

 

akbar birbal ki kahaniyan –  अंगूठी चोर akbar birbal stories in hindi

अब बीरबल (birbal)  उन 40 लोगो के के हाथ को बारी बारी से सूंघना शुरू करता है | एक आदमी को छोड़ कर बाकी सब के हाथो से  उस इतर की गंध आरही होती है जो उसने नारियल पर डाला था | जिस आदमी के हाथो से बिलकुल भी गंध नहीं आरही होती वही चोर होता है उसे पकड़ कर तुरंत बादशाह अकबर (akbar) के समक्ष  ले जाया जाता है | 

 

बादशाह अकबर (akbar) बोलते है तुम हाथ सूंघकर यह कैसे कह सकते हो की यही चोर है ?  

तब बीरबल (birbal) बोलता है – जहांपना ! मैंने पहले ही उस नारियल पर खास तरह का इत्र डाल दिया था | और जिसने चोरी की थी  उसे पता था  की काली माँ उस पुजारी के सपने मे आकार मेरी चोरी बता देगी और मैं पकड़ा जाऊंगा  इस डर से उसने नारियल को छुआ ही नहीं | तो इसका मतलब जिसने नारियल को नहीं छुआ वो ही चोर है |

 

बीरबल (birbal) की यह तरकीब सुनते ही पूरे दरबार मे बीरबल (birbal)  की जय जय कर होने लगी सभी बीरबल (birbal) की बुद्धिमानी की तारीफ करने लगे  इधर बादशाह अकबर  बीरबल (birbal) की चतुराई और अपनी अंगूठी मिल जाने से बहुत खुश होते है वह बीरबल (birbal) को 1 हज़ार सोने की मोहरे इनाम देते है |उधर उस चोर को कारगर मे डाल दिया जाता है |

 

 

Advertisement

akbar birbal ki kahaniyan –  अंगूठी चोर akbar birbal stories in hindi

 

दोस्तों ये कहानी आपको कैसी लगी? दोस्तो इस कहानी (motivational story) से आपको क्या सीख मिलती है ? नीचे कमेंट करके जरूरु बताना। और इस जानकारी (article) को जादा से जादा लोगो तक शेयर करना ताकि उन तक भी यह  पहुच सके।

 

और यदि आपके पास भी कोई motivational story  , या कोई भी ऐसी ज़रूरी सूचना  जिसे आप लोगो तक पहुचाना   चाहते हो तो वो आप हमे इस मेल  (mikymorya123@gmail.com) पर अपना नाम और फोटो सहित send कर सकते है ।  उसे हम आपके द्वारा सेंद की हुई article के साथ लगा कर यहा पोस्ट करेंगे जितना अधिक ज्ञान बाटोगे उतना ही अधिक ज्ञान बढेगा। धन्यवाद.

 

akbar birbal ki kahaniyan –  अंगूठी चोर akbar birbal stories in hindi

 

 

यहा click करे –  जानिए हनुमान जी को सिंदूर क्यों चढ़ाया जाता है ? क्या सच्च मे हनुमान जी को सिंदूर चढ़ाना सही है ? क्या प्रभाव पड़ता है हनुमान जो को सिंदूर लगाने से ? क्या हुआ था जब हनुमान जी पूरे शरीर मे सिंदूर लगा कर भगवान श्री राम जी के सामने आए थे? जानने के लिए यहा click करे और जानिए धर्म से जुड़े रोचक तथ्य 

 

बीरबल की चतुराई और बुद्धिमानी से भरे रोचक किस्से कहानियों का सफर 

 

यहाँ click करे- बीरबल की बुद्धिमानी से भरी तीन रोचक कहानियाँ बीरबल की चतुराई और बुद्धिमानी से भरे रोचक किस्से कहानियों का सफर 

 

यहाँ click करे- अंगूठी चोर | akbar birbal stories in hindi बीरबल की चतुराई और बुद्धिमानी से भरे रोचक किस्से कहानियों का सफर 

यहां click करे –  बीरबल ने दिखाई अपनी कमाल की बुद्धिमानी – बीरबल ने सुलझाया दो साहूकार के बीच लगी शर्त का किस्सा 

 

जिंदगी बादल देने वाली ज्ञान से भारी 100 रोचक कहानियाँ 

 

ज्ञान से भरी किस्से कहानियों का रोचक सफर | यहाँ मिलेंगे आपको तेनाली रामा और बीरबल की चतुराई से भरे किस्से ,  विक्रम बेताल की कहनियों का रोचक सफर , भगवान बुद्ध  कहानियाँ , success and motivational stories और ज्ञान से भरी धार्मिक कहानियाँ 

Advertisement

 

moral-stories-in-hindi

Advertisement

6 thoughts on “अंगूठी चोर | akbar birbal stories in hindi”

Leave a Comment