page contents

best Birbal stories hindi बीरबल की 1 चतुराई

Birbal stories hindi – नमस्कार दोस्तों हर बार की आज हम फिर से birbal stories से बीरबल की चतुराई का वो किस्सा निकाल कर लाए है. जिसे पढ़ कर आपकी तबियत खुश हो जाएगी. 

दोस्तों Birbal की stories से हमें बहुत कुछ सीखने को मिलता है जो life मे भी काम आते है. 

हमारी आज की कहानी है. 

 

मनहूस आदमी |birbal stories hindi 

Birbal-stories

हर बार की तरह अकबर अपने दरबार मे बैठे थे. दरबार अलग अलग मुद्दों पर चर्चाएं चल रही थीं. इतने मे एक दरबारी बोला, जहाँपना, हमारे राज्य मे एक बहुत ही मनहूस, आदमी आगया है.

 

जो बाजार मे गलियों मे इधर उधर घूमता रहता है, जिस वजह से कोई भी उसका मुँह देख लें तो सारा दिन खाना नसीब नहीं होता.

यह सुन जहाँपना,आँखे फैलाते हुए हुए ताजुब करते हुए बोले की, अच्छा ऐसा भी होता है क्या.

जहाँपना अकबर के मन मे इस बात की पुष्टि करने की तीव्र इच्छा हुई, की ज़रा देखें, “क्या सच्च मे ऐसा हो सकता है” की किसी का चेहरा देख लेने से दिन भर खाना ही नसीब ना हो. बहका कोई इतना मनहूस कैसे हो सकता है.

बस फिर क्या था, जहाँपना अकबर ने उस आदमी को अपने सिपाहियों को भेज कर अपने दरबार मे हाजिर करने का हुकुम सुनाया.

उस मनहूस आदमी को दरबार मे हाजिर किया गया. अब उस मनहूस आदमी को ये तक खबर नहीं था की उसे लाया किस लिए गया है.

अब जहाँपना अकबर ने मन भर कर उस आदमी  का मुँह देखा और वापिस भेज दिया.

उसके बाद दरबार की कारवाही आगे बढ़ई गई बाक़ी के मुद्दों पर फिर से चर्चाए होने लगी.

इस दिन जहाँपना दरबार मे इतने व्यस्त हो गए थे की वाकई उन्हें दिन भर खाना नसीब ही नहीं हुआ.

रात्रि के समय भी भूख नहीं लग रही थीं. अब जहाँपना को यह सोच कर बहुत तीव्र गुस्सा आया की ये तो वाकई बहुत मनहूस आदमी था.

ऐसे इंसान को जीने का कोई हक नहीं. इसे कल ही फांसी की सज़ा सुनाऊंगा.

 

Birbal stories पढ़ना जारी रखें ✔️

 

Advertisement

अगले दिन फिर से दरबार लगा. इस बार बीरबल भी दरबार मे मौजूद थे. जहाँपना अकबर ने उस मनहूस आदमी को दरबार मे हाजिर करने का हुकुम सुनाया.

मनहूस आदमी को दरबार मे प्रस्तुत किया गया. जहाँपना अकबर ने बिना देरी किये उस मनहूस आदमी को फांसी की सजा सुना डाली.

मनहूस आदमी हक्का बक्का रह गया. की यह क्या हुआ. बोलने लगा की आखिर किस बात की सजा मैंने क्या गुनाह किया.

तब जहाँपना बोले की तुम्हारा गुनाह बस इतना है की तुम मनहूस हो. कल हमने तुम्हारा चेहरा देखा और हमें वाकई, दिन भर खाना नसीब नहीं हुआ.

ये सुन सुन इधर बीरबल, मन ही मन अकबर के ज्ञान पर हसने लगे. क्योंकि बीरबल एक बुद्धिमान इंसान थे और वो लोगो द्वारा बनाई इन मन घरन्त बातो पर यकीन नहीं करते थे.

अब बीरबल उस बेकसूर आदमी को उसको उस सज़ा से बचाने की युक्ति सोचने लगे जो गुनाह उसने किया ही नहीं था. वो नहीं चाहते थे की एक बेकसूर चाँद लोगो की अज्ञानता की वजह से मौत का शिकार हो जाए.

अब जैसे ही उस मनहूस आदमी को सज़ा देने के लिए फांसी देने वाली जगह पर लें ज़ाया जाने लगा. तभी बीरबल बोले की रुको.

गुस्ताखी माफ, जहाँ पना, लेकिन हम इस मनहूस आदमी से बस कुछ देर अकेले मे बात करना चाहते है.

बीरबल ने उस आदमी को एक युक्ति बताई.

अब जैसे ही उसे फांसी दी जाने लगी, वो मनहूस आदमी जोड़ से बोला, की मुझे कुछ कहना है.

जहाँपना बोले, ठीक है कहो.
मनहूस आदमी बोला.

जहाँपना, अपने बोला था की, मेरा चेहरा देखने से आपको दिन भर खाना नसीब नहीं हुआ. इस वजह से मुझे मनहूस इंसान बना दिया गया. लेकिन मैंने ज़ब आपका चेहरा देखा तो मुझे तो सीधा मौत मिलने जा रही. तो उस हिसाब से आप तो मुझसे भी बड़े मनहूस इंसान हुए. फिर तो आपको भी सजा मिलनी चाहिए.

बस इतना सुनते ही वहाँ सन्नाटा छा गया. किसी से जवाब देते नहु बना. सब के सर शर्म से नीचे झुक गए. और जहाँपना को अपनी गलती का एहसास हुआ.

चलिए जानते है की इस कहानी से हमें क्या शिक्षा मिलती है.

आज की इस कहानी से हमें शिक्षा मिलती है की… हमें कभू भी सुनी सुनाई बातो पर आकर विश्वास नहीं कर लेना चाहिए, अपनी अक्ल लगानी चाहिए.
किसी की सुनी सुनाई बातों पर आकर फैसले नहीं लेने चाहिए.

अफवाहों पर ध्यान देने की बजाय हमें खुद ज्ञान का सहारा लेकर उस तर्क करना चाहिए, उसका विश्लेसन करना चाहिए.

तो दोस्तों उम्मीद करता हूं birbal stories की ये कहानी आपको बहुत पसंद आई होगी.

 

बीरबल की बुद्धिमानी के और भी तमाम किस्से पढ़ने के लिए नीचे जाए.

 

Advertisement

 

 

 

बीरबल की चतुराई और बुद्धिमानी से भरे रोचक किस्से कहानियों का सफर

 

 बीरबल की बुद्धिमानी से भरी तीन रोचक कहानियाँ 

akbar-birbal
akbar-birbal

जरूर पढ़े – अंगूठी चोर | 

akbar-birbal
akbar-birbal

  बीरबल ने दिखाई अपनी कमाल की बुद्धिमानी – बीरबल ने सुलझाया दो साहूकार के बीच लगी शर्त का किस्सा 

 

akbar-birbal
akbar-birbal

जरूर पढ़े – विश्वास और मनोकामना का राज | बिना भगवान का मंदिर |

 

akbar-birbal

 

 

जरूर पढ़े motivational & inspirational biography stories 

 

ज्ञान से भरी किस्से कहानियों का रोचक सफर | यहाँ मिलेंगे आपको तेनाली रामा और बीरबल की चतुराई से भरे किस्से ,  विक्रम बेताल की कहनियों का रोचक सफर , भगवान बुद्ध कहानियाँ , success and motivational stories और ज्ञान से भरी धार्मिक कहानियाँ 

 

moral-stories-in-hindi

 

Advertisement

 

 

Advertisement

1 thought on “best Birbal stories hindi बीरबल की 1 चतुराई”

Leave a Comment