page contents

chai sutta bar success story anubhav dubey biography hindi

chai sutta bar success story anubhav dubey biography hindi – chai ka business – business idea – chai sutta bar turnover chaisutta bar owner

 

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका आज एक और success story मे जिसका टाइटल है chai sutta bar success story. 

 

भारत का शायद ही कोई हिस्सा ऐसा होगा जहाँ chai ना पी जाती हो, हर शहर गांव,गली, लुकक्ड मोहल्ले, चौराहे, पर एक चाय की टपरी जरूर मिलेगी.

 

हालांकि वो बात अलग है की लोग इसे मात्र एक छोटे से धंधे के रूप मे या मात्र जीविका कमाने के रूप मे देखते है. आज तक लोगो के इसी नजरिये ने उन्हें कभी भी चाय को एक बड़े business के रूप मे नहीं देखने दिया.

 

लेकिन 100 मे से 3-4 लोग ऐसे निकले जिनकी सोच in लोगो से कहीं ऊपर थी, इनमे से अनुभव दुबे और मिस्टर बिल्लोरे ये दो लोग एक बहुत बड़ी उदाहरण है जिन्होंने चाय मे बड़े व्यापार को तलाशा.

 

इसी तर्ज पर अनुभव दुबे ने  लोगो की नब्ज़ पकड़ी और शुरुआत की chai sutta bar की आज चाय सुट्टा बार की भारत मे 200 से ज़ादा outlets यानी branches है. और महीने की 30 लाख की turnover है.

 

Chai sutta bar के मालिक (owner) का नाम अनुभव दुबे (Anubhav Dubey) है भले ही इस business को एक बड़े मुकाम तक पहुँचाने मे अनुभव दुबे का बड़ा रोल रहा है लेकिन शुरुआती दौर मे chai sutta bar से जुड़े दोस्तों का अहम् रोल रहा.

 

आखिर कैसे शुरू हुआ ये कारवाँ,किस तरह ये business idea अनुभव दुबे के मन मे आया और कैसे इसे एक बड़े मुकाम तक पहुँचाया गया.

 

चलिए जानते है अनुभव दुबे biography से.

 

Chai sutta bar success story | anubhav dubey biography hindi 

 

Name  anubhav dubey
Date of birth   1996
Birth place Rewa City of Madhya Pradesh, India
Current city Rewa City of Madhya Pradesh, India
Age 2021 25 year
Religion hindu
Nationality indian
Height       5.8inch, 176cm
Weight   70kg
School महर्षि विद्या मंदिर (maharishi vidya mandir)
Collage   Renaissance
Education      graduation in  commerce in business

 

अनुभव दुबे का जन्म 1996 मे मध्यप्रदेश के rewa जिले मे हुआ.  Anubhav dubey की 1 से 12 कक्षा तक की पढ़ाई स्थानीय स्कूल के महर्षि विद्या मंदिर से पूरी हुई.

 

इसके बाद उनके पिता ने अनुभव की ग्रेजुएशन मध्यप्रदेश के collage Renaissance से करवाई. यहां अनुभव ने commerce in business मे अपनी ग्रेजुएशन पूरी की.

 

अनुभव के पिता थे तो एक businessman लेकिन की माथा पच्ची से वो अपने बेटे को दूर ही रखना चाहते थे या ऐसा कह लो वो चाहते थे की उनका बेटा एक अच्छी पढ़ाई करके कोई बड़ी post पर नौकरी हासिल करें. जिससे समाज मे एक अच्छा रुतबा हो.

 

इस सोच से उन्होंने अपने बेटे अनुभव को upsc की तैयारी करने को कहा.  अनुभव upsc की तैयारी के लिये दिल्ली आगए.

 

वहाँ पर उनकी मुलाक़ात आनंद नायक से हुई.  आनंद नायक business mindset वाले व्यक्ति थे उनका business मे कुछ तजुर्बा भी था. आनंद नायक और अनुभव दुबे दोनों अच्छे मित्र बन गए.

 

दोनों मे business को ले कर बहुत सी बातें शेयर होती. एक दिन anubhav dubey के मन मे चाय के business को लेकर बहुत जबरदस्त विचार आया.

 

अनुभव दुबे ने सोचा की चाय ही एक ऐसा ड्रिंक है जो हर जगह पी जाती है और इसकी डिमांड पूरा साल बरकरार रहती है. गरीब से लेकर अमीर तक और छोटे से लेकर बड़े तक हर उम्र का व्यक्ति चाय को पीता है.तो क्यों ना इसे एक बड़े business के रूप मे अंजाम दिया जाए.

 

अनुभव, चाय मे एक बहुत बड़ी business oppertunity को देख रहे थे. बस यही से शुरुआत हुई उनके एक business man बनने की.

 

अब upsc की तैयारी को दिरकिनार कर अनुभव, एक चाय shop की शुरुआत करने ऊपर विचार कर रहे थे.

 

हालांकि अनुभव के पास कोई तजुर्बा नहीं था जिस वजह से वो अच्छी strategy नहीं बना पा रहे थे.

 

तभी उन्हें अपने दोस्त आनंद नायक की याद आई. अनुभव ने सारा plan आनंद नायक से शेयर की और आनंद की मदद मांगी.

 

इसके बाद दोनों ने मिलकर मार्केट रिसर्च की, अच्छी जगह की तलाश की और एक अच्छा सा नाम सोचा.

 

उन्होंने girls collage के साथ वाली जगह पर चाय shop खोलने का फैसला लिया. यही से नाम रखा गया 👉  chai sutta bar

 

इस तरह 2016 मे इंदौर के एक girls collage के पास चाय shop के लिये के दोनों ने पैसे जुटा कर tea shop का इंटीरियर बनवाया कुछ फर्नीचर और बाकी की खाने पीने की चीजें जुटाई.

 

इसी दौरान दोनों ने अपने बाकी के कुछ दोस्त भी साथ मे मिला लिये और हिम्मत जुटाते हुए चाय के इस business का श्री गणेश किया.

 

Girls college के बगल मे चाय का छोटा सा business शुरू करने की एक बड़ी सोच थी.

 

अनुभव दुबे ने बताया की हम शुरू मे बजट अनुसार सिंगल tea कॉफी ओर कुछ स्नेक्स रखेंगे.

और फिर ज़ब हम ये girls college के पास tea shop open करेंगे तो लड़कियों की वजह से लड़के अपने आप खिचे चले आएंगे. यानी एक कस्टमर से 5 कस्टमर खुद यहां तक आएगा.

 

अनुभव की ये menetelity बड़े काम की निकली.

 

आखिर कार यह स्ट्रेटेजी सच्च मे काम करने लगी. देखते ही देखते कस्टमर बढ़ने लगे और मनाफा होने लगा.

 

इस पूरी strategy मे दोस्तों की प्रमोशन ने बहुत बड़ा कमाल किया.

 

अनुभव के दोस्त एक अज़नबी बनकर भीड़ वाली जगह पर जोर जोर से बोल कर chai sutta bar की तारीफे करते. जिससे वहाँ मौजूद collage के युवा और अन्य लोग प्रभावित व अट्रैक्ट होने लगते.

 

सिर्फ यही नहीं दोस्तों उनकी business strategi मे एक और खास बात थी जो उनके काम को बाकियों से बहुत अलग बनाती थी वो था चाय को सर्व करने का बर्तन.

 

जी हाँ, मै बात कर रहा हूं मिट्टी के कुल्हड़ की जैसा की आप image मे देख रहे हो.

chai-sutta-bar

इसी मिट्टी के कुल्हड़ वाली चाय ने लोगो को अपनी ओर ऐसा आकर्षित किया की business रफ़्तार पकड़ने लगा.

 

समय के साथ चाय की अनेक वैराइटी लाने लगे अलग अलग फ्लेवर की चाय से, chai sutta bar लोगो मे लोकप्रिय होने लगा क्योंकि वहाँ पर लोगो को उनकी मनपसंद चाय मिल जाया करती.

 

Chai sutta bar मे ग्रीन tea, लेमन tea, गुड़ वाली चाय, अदरक वाली चाय, इलायची वाली चाय,मसाले वाली चाय, के साथ कई तरह स्नेक्स ओर कॉफी भी शामिल हुई.

 

👉 आखिर कैसे 24 साल के बच्चे ने चाय की छोटी सी टपरी से शुरू करके दो 3 साल मे खड़ी कर दी करोड़ो की कम्पनी. कैसे एक business idea ने बदल दी प्रफुल बिल्लोरे की जिंदगी. जानने के लिये जरूर पढे.

👉 MBA chai wala success story hindi 

 

Chai sutta bar की पिता को नहीं थी खबर 

 

हालांकि उधर अनुभव के पिता 2 से 3 महीने इस बात से बेखबर थे की उनका बेटा इंदौर मे चाय की दुकान खोले बैठा है, उनको तो यही लगता रहा की उनका बेटा UPSC की तैयारी कर रहा है.

 

क्योंकि यह सब अनुभव ने अपने पिता से तब तक छुपा के रखा ज़ब तक वो एक अपने business को एक मुकाम तक ना ले आया.

 

5 से 6 महीने मे business काफ़ी बड़ा हो चुका था एक ब्रांचिस भी खुल चुकी थी.

 

Chai sutta bar की खास बात 

 

अनुबव दुबे यानी chai sutta bar की खास बात यह है की यह ना सिर्फ तमाम फ्लेवर वाली चाय बनाते है बल्कि उन चाय को एक मिट्टी के बने कुल्हड़ मे सर्व करते है जो हमें पुराने दिनों की याद दिलाता है और इस काम को बाकी की चाय shop टपरी से काफ़ी अलग बनाता है. 

 

अनुभव दुबे और उनकी पूरी टीम की मेहनत सच्ची लगन, business idea, बेहतर strategy की बदौलत आज chai sutta bar एक बड़ा brand बन चुका है और यह लोगो मे बहुत लोक प्रिय है.chai sutta bar का एक अलग ही दर्जा है.

 

भारत के अनेक राज्यों मे और कई शहरों मे chai sutta bar की कुल 200 से भी ज़ादा की ब्रांचे (outlets) खुल चुकी है.

 

2016 मे शुरू हुआ यह business मात्र 5 साल मे बहुत बड़े मुकाम पर पहुँच गया है और 2021 तक इस business ने अपना 110 करोड़ के भी ऊपर का business बना दिया है. यानी 5 सालो मे 110 करोड़ के ऊपर की कमाई कर चुकी है.

इस दौरान ये अब तक 2000 लोगो को रोजगार दे चुके है.

 

चाय सुट्टा बार की बढ़ती ख्याति और उसकी फ्रेंचाइजी से लोगो अच्छा मुनाफा होता देख लोग chai sutta bar की फ्रेंचाइजी लगवाने के लिये आर्डर पर आर्डर करने लगे.

 

अपने शहर मे chai sutta bar की फ्रेंचाइजी खोलने के लिये क्या करना होगा.

 

यदि aap भी अपने इलाके मे chai sutta bar की फ्रेंचाइजी खोल कर जबरदस्त मुनाफा कमाना चाहते है तो सबसे पहले आपको इसकी जानकारी हासिल करनी होगी.

 

सबसे पहले आपको chai sutta bar ki वेबसाईट पर जाकर फ्रेंचाइजी के लिये राजुस्ट्रेशन करवाना होगा जो की बिलकुल free है.

 

वेबसाईट मे रजिस्ट्रेस्ट्रेशन के लिये एक form भरना होता है जिसमे  आपसे आपकी बेसिक detail, नाम पता,जमीन की जानकरी, लोकेशन वगैरा भरने को कहा जाता है.

 

रजिस्ट्रेशन मे दिए नंबर से वो आपको सम्पर्क करेंगे और तमाम जरुरी जानकारी करके पुस्टि करेंगे.

 

अधिक जानकरी के लिये नीचे दिए नंबर पर सम्पर्क करें.

 

अपने इलाके मे chai sutta bar की फ्रेंचाइजी खुलवाने के लिये इस नंबर पर सम्पर्क करें 👉 

 

तो दोस्तों आज हमने chai sutta bar success story anubhav dubey biography hindi के बारे जाना.

उम्मीद करता chai sutta bar success story anubhav dubey biography hindi से आपको बहुत प्रेरणा मिली होगी.

 

दोस्तों हमारे भारत मे युवाओं के अंदर कुशलता, की कमी नहीं है बहुत business ideas है जिन पर काम करके देश की तस्वीर बदली जा सकती है बस जरूरत है तो सिर्फ हिम्मत, आत्मविश्वास ओर संकपल शक्ति की.

 

हम अपने blog पर ऐसी ही तमाम motivational biography प्रेरणादायक post आप लोगो के लाते रहते है. हमसे जुड़े रहे.

 

इन्हे भी अवश्य पढे 

 

जरूर पढ़े – success story जिद्द और कामयाबी की अद्भुत दास्तां

50 small business ideas hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *