page contents
cristiano-ronaldo-biography-in-hindi

cristiano ronaldo biography in hindi

cristiano ronaldo biography in hindi – दोस्तों आज हम बात करेंगे फुटबॉल के सबसे बेहतरीन players मे टोप पर गिने जाने वाले रुनाल्डो की…एक समय मे बेहद ग़रीबी व मुश्किल हालातो से भरा जीवन जी चुके रुनाल्डो आज अपनी कठोर मेहनत – निरंतर प्रयास और मजबूत इच्छा शक्ति (will power) की मदद से कामयाबी के उस मुकाम पर खड़े है जहाँ से आज ये हर इंसान को प्रेरित कर रहे है.

 

 दुनिया में आज ऐसी कोई चीज नहीं जो क्रिस्टीयानो रोनाल्डो के पास में ना हो और वो खरीदने की क्षमता न रखते हो। 

सालाना 700 करोड रुपए कमाने वाले ये  दुनिया के सबसे अमीर खिलाड़ियों में से एक है,

लेकिन इनका बचपन बेहद गरीबी में बीता. इनके पास फुटबॉल और चप्पल खरीदने तक के पैसे नही हुआ करते थे. लेकिन इतनी मुश्किल के बाद भी इन्होंने कभी हार नही मानी और सफलता की असीम बुलंदियों को छुआ. cristiano ronaldo biography in hindi आज हर किसी को प्रेरित कर रही है. और हमेशा करती रहेगी.

अगर आप भी जिंदगी में कुछ प्रेरणादाई करना चाहते हैं, जिंदगी में कुछ बड़ा मुकाम हासिल करना चाहते है तो यह Video आपको जोश से भर देगा, इसलिए इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ो ।

 

cristiano ronaldo biography in hindi

ये है क्रिस्टीयानो रोनाल्डो, जो फुटबॉल प्रेमियों के लिए किसी भगवान से कम नहीं। 5 फरवरी 1985 को पुर्तगाल के फंचल में जन्मे क्रिस्टीयानो रोनाल्डो का पूरा नाम क्रिस्टियानो रोनाल्डो डॉस सैंटोस एवेइरो है.

cristiano-ronaldo-biography-in-hindi

ronaldo का परिवार 

इनके परिवार में इनके अलावा इनके माता-पिता, दो भाई और एक बहन थी. गरीबी ने इनके पूरे परिवार का जीवन बहुत कठिन बना रखा था, इनके पिता बहुत लो रेट में गार्डनर और किटमैन का काम करते, ताकि परिवार की जरूरत पूरी कर सके लेकिन गरीबी!! फिर भी जस की तस बनी रहती. 

 

kitman के तौर पर ये फुटबॉल प्लेयर्स को kit सप्लाई करते और उनके Room की साफ सफाई करते।

 

वो अपनी लाइफ में कुछ बड़ा Achieve नहीं कर सके, इस बात से वो खुद बहुत शर्मिंदा थे,और यही Reason बना कि वो शराब का सेवन करने लगे. 

 

हालांकि उन्होंने अपने बच्चों की परवरिश से कभी कोई समझौता नहीं किया… बहुत कम उम्र से ही उन्होंने रोनाल्डो को फुटबॉल खेलने के लिए प्रेरित किया और रोनाल्डो का इंटरेस्ट पढ़ाई से ज्यादा फुटबॉल में हो गया।

 

ronaldo के परिवार की ग़रीबी 

इनकी गरीबी का आलम कुछ ये था कि इनके पिता के पास इतने पैसे भी नहीं हुआ करते!!  कि वो रोनाल्डो के लिए फुटबॉल खरीद सके, इसलिए रोनाल्डो के पिता बॉल के अंदर कपड़े लपेटकर भर देते और रोनाल्डो गलियों में उसी से फुटबॉल खेलते।

 

 इनके पास चप्पल भी नहीं हुआ करती, तो उसके लिए रोनाल्डो के पिता अपने Relatives से पुरानी चप्पल खरीद लेते। 

 

ronaldo की will power और मेहनत 

रोनाल्डो अच्छी तरह जानते थे कि यदि एक अच्छा फुटबॉलर बनना है तो अपना स्टेमिना बहुत मजबूत रखना होगा। एक फुटबॉल मैच में खिलाड़ी को करीब 10 किलोमीटर दौड़ना पड़ता है, इसलिए रोनाल्डो कभी-कभी तो सुबह से शाम तक सिर्फ प्रैक्टिस करते रहते। अपनी Skills को और इंप्रूव करने के लिए अपने से ज्यादा उम्र के लोगों के साथ फुटबॉल खेलते। 

 

और 8 साल की age तक रोनाल्डो ने एंडोरीना Sports Club ज्वाइन कर लिया, जहां इनके पिता Kitman के तौर पर काम किया करते। 

 

लेकिन असली चुनौतियां तो अब शुरू हुई थी। रोनाल्डो के Team Member इन्हें Humiliate करते क्योंकि उनके पिता वहां Kitman के तौर पर काम करते थे लेकिन रोनाल्डो ने सबको अपने खेल से जवाब दिया। 

 

ronaldo को मिला करियर बनाने का मौका 

फुटबॉल के खेल में रोनाल्डो  इतना घुल मिल चुके थे कि मात्र 10 साल की Age में उनके पड़ोसी उनमें अच्छा फुटबॉलर देखने लगे. 12 साल की Age में इन्हें पहला ब्रेक मिला, जब स्पोर्टिंग क्लब पुर्तगाल ने 15 पाउंड में साइन किया…..पर यह ब्रेक भी किसी कुदरती करिश्मा से कम नहीं था, जो खुद रोनाल्डो मानते हैं।

 

शर्त यह थी कि स्पोटिंग CP उसी को साइन करेगी जो सबसे ज्यादा गोल करेगा. अब रोनाल्डो और उनके दोस्त दोनों एक एक गोल करके बराबरी पर थे,

 

दोस्त के पास मौका था कि वो एक गोल करके स्पोटिंग CP जॉइन कर ले, लेकिन उन्होंने रोनाल्डो को गोल करने के लिए गेंद पास कर दी. और इस तरह रोनाल्डो ने उस Match में सबसे ज्यादा दो गोल दागे और उनका सिलेक्शन हो गया.

 

ronaldo हुए परिवार से अलग 

एक तरफ क्लब में सिलेक्शन होने की खुशी थी वहीं दूसरी तरफ अपने परिवार से दूर जाने का गम, क्योंकि इस क्लब में ज्वाइन करने के लिए उन्हें अपने परिवार को छोड़कर दूसरे शहर जाना पड़ा और वहां फुटबॉल के साथ अपनी पढ़ाई भी  जारी रखी, लेकिन Destiny को शायद कुछ और ही मंजूर था।

 

 एक दिन उनके स्कूल के एक Teacher उनकी फैमिली और गरीबी का मजाक बना रहे थे, रोनाल्डो को गुस्सा आया और उन्होंने, टीचर पर कुर्सी मार दी। इसके बाद स्कूल से उन्हें निकाल दिया गया। उन्होंने सारी बात मां को बताई जिसके बाद माँ ने डिसाइड किया कि अब रोनाल्डो फुटबॉल पर ही पूरा फोकस करेगा।

 

ronaldo को था सीरियस heart problem 

इसके कुछ समय बाद ही पता चला कि रोनाल्डो को एक सीरियस हार्ट प्रॉब्लम है जिसके चलते डॉक्टर ने उन्हें हमेशा के लिए फुटबॉल छोड़ने की सलाह दी, पर रोनाल्डो कहां फुटबॉल छोड़ने वाले थे।

 

उन्होंने डॉक्टर से दूसरा ऑप्शन पूछा तो डॉक्टर ने उन्हें Operation की सलाह दी लेकिन इसमे रोनाल्डो की जान भी जा सकती थी, पर फुटबॉल के प्रति रोनाल्डो का Passion इतना ज्यादा था कि जान खतरे में डालकर Operation कराया जो सफल रहा।

 

ronaldo के पिता की मौत 

साल 2005 मे लिवर Failure के कारण इनके Father की Death हो गई, तब रोनाल्डो सिर्फ 20 साल के थे.

 

परिवार के अकेले कमाने वाले सदस्य की Death के बाद तो मानो इनकी जिंदगी और भी दुख भरी हो गई।

Family के पास रोनाल्डो की दवा खरीदने तक के पैसे नही होते, तब मजबूरन रोनाल्डो की माँ को पड़ोसियों के यहाँ खाना बनाने, साफ सफाई करने का काम करना पड़ा।

 

ronaldo ने जिताया चेम्पीयन शिप 

पर रोनाल्डो ने इस Pressure को झेलते हुए खेल पर ध्यान बनाये रखा और इसका परिणाम यह हुआ कि 2003 में इन्हें पुर्तगाल की Team में शामिल किया गया था, और 2006 तक यह अपने Team के सबसे अहम सदस्य बन चुके थे। 2008 में इन्हें पुर्तगाली फुटबॉल टीम का कप्तान बना दिया गया और 2018 में पुर्तगाल को यूरोपियन चैंपियनशिप जिताया। 

 

इतना पैसा होने के बाद भी रोनाल्डो शराब को हाथ तक नही लगाते, क्योंकि शराब के कारण ही उनके Father की death हुई थी।

 

रोनाल्डो 5 चैंपियन लीग जीतने वाले दुनियाँ के एक मात्र खिलाड़ी है। इनकी Greatness सिर्फ मैदान तक नही है, ये अपने खुद के दम पर 600 बच्चो का एक अनाथालय चलाते है, अपने Golden बूट की नीलामी से मिले 13 करोड़ रु School बनाने के लिए दान में दे दिए थे। 

 

किसी ने सही ही कहा है!!  कि किसी की महानता उसके सोशल status देखकर नही तय की जाती, बल्कि इससे तय होती है कि वो कितने लोगों के दिलो को छूता है। और रोनाल्डो इसी तरह के इंसान है।

 

रोनाल्डो के जीवन की कौन सी बात आपको सबसे जादा इंस्पायर करती है हमें कमेंट मे जरूर बताना.

उम्मीद है cristiano ronaldo biography in hindi ने आपको बहुत प्रेरित किया होगा., इसलिए खूब like और Share करे.

 

ऐसे ही प्रेरणादाई बायोग्राफी हम अपने blog पर लाते रहते है…हमसे जुड़े रहे…

 

प्रेरणा से भर देने वाली इन 👇बायोग्राफी को जरूर पढ़ो….

Ratan tata biography in hindi

Warren buffet biography hindi

लता मंगेशकर जीवन परिचय 

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

chanakya niti ki anmol bate | चाणक्य शस्त्र Chanakya niti | झूठ बोलने वाली पत्नी chanakya niti | इन बातों को समझ गए तो रिश्ते कभी खराब नहीं होंगे chanakya niti hindi me chanakya niti | chanakya golden thoughts chanakya niti | life change quotes chanakya niti | इन 5 परिस्थितियों मे हमेशा चुप रहो chanakya niti | life change thoughts chanakya niti | चाणक्य के अनमोल वचन chanakya thoughts for life