page contents

sai baba motivation साई बाबा का ज्ञान

sai baba motivation  – दोस्तो स्वागत है आपका motivation से भरी इस वैबसाइट मे यहाँ पर आपको एक से एक ज्ञान से भरी बातों , कहानियों (hindi stories) motivational stories (प्रेरणा दायक कहानियाँ) ,

 

inspirational stories , success stories (सफलता की कहानियाँ), religious stories (धार्मिक कहानियाँ), kids stories in hindi (बच्चो के लिए कहानियाँ) तेनाली रामा की बुद्धिमानी के किस्से , अकबर बीरबल की कहानियाँ और विक्रम बेताल की कहानियाँ  जैसी तमाम hindi stories आपको free मे पढ़ने को मिलेंगी |

 

sai baba motivation

sai-baba-motivation

सुखी होने का रहसस्य  | life motivation| इंसान के दुख के सबसे बड़े कारड़ | साई बाबा के सत्य वचन 

 

साई बाबा द्वारका माई  मे बैठे थे महाल्सापति भी वही मौजूद थे दोनों मे जीवन के सुख दुख को लेकर बातें हो रही थी | साई बाबा महाल्सा पति जी को जीवन के अनमोल ज्ञान दे रहे थे |

जिसमे महाल्सापति जी ने साई बाबा से सवाल पूछा – की  हे साई नाथ –  इंसान के जीवन मे कई बार  खुशियाँ आती है फीर भी क्या कारण हैं की वो खुश तो रहता है पर सुखी नहीं रहता ||

इस पर  साई बाबा बोलते है – महाल्सापति  – 

इंसान का सुखी होना या न होना तो उसके भाग्य पर निर्भर करता है -और इंसान अपना भाग्य अपने कर्मो से बनाता है |

इंसान जब कर्म ही बुरे करता है महाल्सापति  , तो  जीवन मे , उसके भाग्य मे सुख  कहाँ से आएगा |

 

विडियो देखें 

 वो इंसान कभी सुखी नहीं रह सकता जो दूसरों की कामयाबी से- 

दूसरों की खुशी से

दूसरों के सुख से जलता हो |

वो इंसान कभी सुखी नहीं रह सकता जो दूसरों से ईर्षा की भावना रखता हो |

दूसरों का बुरा सोचता हो |

 

Advertisement

sai baba motivation

 

वो इंसान कभी सुखी नहीं रह सकता जो दूसरों की मजबूरी का गलत फायदा उठाता हों

जो रिश्तों का इस्तेमाल सिर्फ अपने किसी मकसद को -स्वार्थ को पूरा करने के लिए करता हो और लोगो को धोखा देता हों लोगों का विश्वास तोड़ता हो  | 

 

जिस घर मे औरतों का सम्मान न होता हो – बड़ो का आदर न होता हो – उस घर मे सुख  शांति समृद्धि  कभी कदम नहीं रखती 

वो इंसान कभी सुखी नहीं रह सकता  जिसकी इच्छाएँ  असीमित है और जो अपने मन के अधीन होता है महाल्सापति|

फिर ऐसा इंसान मोह माया से पूरी तरह लिप्त हो जाता है एक माया रूपी दलदल मे फँसता जाता है जिस वजह से उसकी असीमित इछाएन उसका मन कभी संतुष्ट नहीं होने देती |

और जब तक मन संतुष्ट नहीं होगा तब तक सुख का अनुभव कैसे मिलेगा महाल्सापति? 

 

sai baba motivation

इंसान  जब मोह माया के दलदल मे फँसता है तो इंसान अपने मन के अधीन हो जाता है फिर इंसान वैसा ही करता है जैसा उसका मन कहता है |

 

 

sai baba motivation

 

 

 

यदि इंसान अपनी इन आदतों से बाज  आजाए ,मन को काबू मे रखे ,  मन मे सकारात्मक विचारधारा रखें ,तो मन छोटी छोटी चीजों से भी संतुष्ट हो जाएगा उसे सुख और खुशी बाहर खोजने की जरूरत नहीं पड़ेग़ी |

वो जीवन के छोटे छोटे पलों मे ही खुश रहने की कला  सीख जाएगा महाल्सापति|

Advertisement

 

 

जिंदगी मे जो कुछ है उसी मे खुश रहना सीखो बहुत जादा इच्छाए और लालसा मत पालों हमेशा अच्छे कर्म करते रहो ईमानदारी से अपना काम करो |

न किसी का बुरा सोचो न किसी का बुरा करो …

न किसी की खुशियों से जालो न किसी से ईर्षा करो ….

जरूरतमन्द की सहायता करो देखना एक दिन ईश्वर की आप पर….जरूर  किरपा होगी

 

आपके द्वारा किए गए अच्छे  कर्म आपके भाग्य को चमका देगी |फिर एक दिन आपके पास वो सब कुछ होगा जो आपने चाहा था |

 

 

 

उम्मीद करता हूँ साई बाबा के इस ज्ञान से आपको बहुत कुछ सीखने को मिला होगा | यह छोटी सी विडियो अच्छी लगी हो तो लाइक शेयर जरूर करना |

sai baba motivation

 

 

इन्हे भी जरूर पढे

 

 

 

 

Advertisement

एअर फोन लगाकर ये Video जरूर देखें, 🙏👉

उम्मीद करता हूँ इस विडियो से आप बहुत सी नई बाते सीखे होंगे | ऐसी ही और भी तमाम video देखने के लिए यहाँ click करें  

Advertisement

Leave a Comment