page contents

1 best Jack ma biography in hindi

Jack ma biography in hindi- jack ma सफलता की दुनियां का एक ऐसा नाम है जिनके जीवन से बहुत कुछ सीखने को मिलता है. 

 

नमस्कार दोस्तों, मे हरजीत मौर्या आज आपको एक ऐसे इंसान के बारे मे बताने जा रहा हूं. जो ना सिर्फ एक गरीब परिवार से था बल्कि जीवन मे कई बार असफल होने के बाद भी संघर्ष करता रहा.

 

और सफलता का इतिहास रचते हुए आज ये इंसान एशिया का दूसरा सबसे अमीर इंसान बन गया.

जी हा दोस्तों इस इंसान का नाम है जैक मा. (Jack Ma)
यानी दुनियां की सबसे बड़ी ई कॉमर्स वेबसाइट “अली बाबा डॉट कोम” का मालिक.

 

Jack-ma-alibaba

जैक मा पढ़ाई लिखाई मे काफ़ी कमजोर थे उनका मन भी पढ़ाई मे नहीं लगता था. फिर भी वो आज दुनियां के सफलतम और अमीर (success) इंसानों मे से एक है.

ऐसा कैसे हो पाया,? क्या रातो रात की खजाना हाथ लग था? . या फिर कोई अलादीन का चिराग मिल गया था.

जी नहीं दोस्तों ऐसा बिलकुल नहीं है.
आज ये इंसान कामयाबी की जिन बुलंदियों पर है वो सिर्फ इनकी खुद की मेहनत और हार ना मानने वाली काबिलियत की वजह से ही सम्भव हो पाया है.

 

तो चलिए आज jack Ma के जीवन संघर्ष और सफलताओ के बारे मे जान कर इनसे प्रेरित होते हुए कुछ नया सीखने का प्रयास करते है.

 

Jack Ma biograohy in hindi motivation

jack Ma का जन्म 15 ओक्टुबर 1964 को एक छींटे से गरीब परिवार मे चाइना के एक छोटे से गांव “जंजाऊ” मे हुआ था.

 

jack Ma का एक बड़ा भाई और एक छोटी बहन थीं.

1972 मे प्रेजिडेंट निक्सन उनके शहर मे आए थे जिसकी वजह से उनका शहर फेमस हो गया था.

 

प्रेजिडेंट ने उस शहर की इकोनॉमी को मजबूत करने के लिए वहाँ और बहुत से विकास शील कार्य करवाए.

Advertisement

जिसके चलते उस शहर मे बहुत अद्भुत और नायब चीजे बनाई गई.

 

और देखते ही देखते वो प्लेस एक टूरिस्ट प्लेस भी बन गया.

jack Ma को इंग्लिश सीखने का बहुत शौक था. उनका बहुत मन करता था की वो भी किसी से इंग्लिश मे बात करे.

 

इसलिए उन्होंने अपनी टूटी फूटी इंग्लिश से ही टूरिस्ट को free मे उस जगह के बारे गाइड करना शुरू कर दिया.

इससे उनकी इंग्लिश मे बात करने की प्रेक्टिस भी हो जाती थीं.

 

जिससे jack Ma की इंग्लिश मे काफ़ी सुधार आया.

जैक माँ का नाम पहले चाइनीस शब्द मे होता था जिस वजह से टूरिस्ट लोगो के लिए उनका नाम लेने मे कठिनाई होती थीं.

 

जिसके चलते उनका यह निक नेम जैक उनके एक अमेरिकी टूरिस्ट दोस्त ने रखा था.

तब से उनको सब इसी नाम से जानने लगे.

इसके बाद 1988 मे जैक मा अपने शहर की सबसे कम प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी से अपनी ग्रेजुएशन पूरी की.

 

इसके बाद उन्होंने अलग अलग जगह पर 30 बार जोब के लिए इंटरव्यू दिया. जिसमे जैक मा को रिजेक्ट कर दिया गया. यानी हर बार उनको निराशा मिली.

 

सबसे पहले jack ma ने पुलिस भर्ती के लिए आवेदन किया वहाँ पर उनकी फीजिकल कमियों कु वजह से select नहीं किया गया.

 

इसके बाद ज़ब jack ma के शहर मे पहली बार KFC की नई फ्रेंचाइजी खोली गई तब jack ma सहित 23 लोगो ने KFC मे नौकरी के लिए आवेदन दिया.

Advertisement

 

लेकिन दुर्भाग्यवश यहां बाक़ी 23 लोगो को तो KFC मे नौकरी के लिए सिलेक्ट कर किये गए लेकिन jack ma को सिलेक्ट नहीं किया गया.

 

इससे पता चलता है की jack ma ने अपने शुरुआती करियर बनाने मे कितनी ठोकरे खाई.

इन तमाम निराशाओं के चलते jack ma अभी भी होंसला नहु हारे थे. जैक मा ने हार नहीं मानी.

 

जिसके चकते उन्होंने एक लोकल यूनिवर्सिटी मे एक इंगकीश टीचर की जोब के लिए प्रयास किया.

 

इंग्लिश अच्छी होने की वजह से फाइनली 1988 मे जैक मा को शहर की एक लोकल यूनिवर्सिटी मे 12$ पर मंथली सैलरी पर इंग्लिश टीचर की जोब मिल गई.

 

इसके बाद 1995 मे ज़ब वो पहली बार US गए तो वहाँ पर उन्होंने पहली बार इंटरनेट के बारे मे सुना.

 

इंटरनेट को थोड़ा समझने के बाद जैक बहुत ज़ादा इम्प्रेस हुए.

इसके बाद जैक के दोस्त ने जैक को इंटरनेट पर कुछ भी search करने को कहा.

तब जैक ने बीयर यानी भालू शब्द search किया. जैक को भालू से जुड़ी बहुत सारी जानकारी प्राप्त हुई.

यह देख जैक बहुत खुश हुए.

 

इसके बाद jack ma  ने चाइना के बारे search किया तो उनको चाइना और चाइना से जुड़ी कोई भी जानकारी इंटरनेट पर नहीं मिली.

 

यह देख jack ma  बहुत निराश हुए. तब उन्होंने सोचा की मैं कोई ऐसी वेबसाइट बनाऊंगा जिसमे चाइना के बारे जरुरी जानकारी डालता रहूँगा. और दुनियां चाइना के बारे मे जानकारी लें सकेगी.

Advertisement

 

सिर्फ यही नहीं दोस्तों जैक ने यह भी सोचा की वो अपने देश के हर मिडल क्लास business को इंटरनेट से कनेक्ट कर देंगे.

 

इसके बाद jack ma  अपने इन्ही क्रन्तिकारी विचारों के साथ अपने देश चाइना वापिस गए. और अपने दोस्त के साथ मिलकर एक वेबसाइट खोली जिसका नाम था चाइना पेजिस.

 

उसका काम था बाक़ी मिडल क्लास business के लिए वेबसाइट क्रिएट करना ताकी वो अपने प्रोडक्ट online सेल कर सकें.

 

लेकिन कोई इन्वेस्टमेंट ना आने के बाद यह प्लान सफल होने से पहले विफल हो गया.

 

लेकिन हर बार की तरह jack ma  ने इस बार भी हार नहीं मानी.

और कुछ सालों बाद अपने 17 दोस्त और पत्नी के साथ मिल कर पूरे जुनून के साथ एक नई वेबसाइट खोली.

 

जिसका नाम था अलीबाबा डॉट कोम. जी हा दोस्तों ये वहीं वेबसाइट है जो आज दुनियां की सबसे बड़ी E-कॉमर्स वेबसाइट बन चुकी है.

 

Jack ma  ने इस साईट को बना कर मिडल मैन का कांसेप्ट ही खत्म कर दिया. और अब एक्सपर्टर्स इस वेबसाइट के जरिये अपने माल को डायरेक्ट बेच सकते थे. और कस्टमर अब उसे डायरेक्टली खरीद सकते थे.

 

पहले 3 साल तक उन्होंने इस साईट से बहुत कम पैसे कमाए.

लेकिन ओक्टुबर 1999 मे jack ma  को गोल्डमैन सेक से 5 मिलियन डॉलर और सॉफ्ट बैंक से 20 मिलियन डॉलर प्राप्त हुए.

 

अलीबाबा (alibaba) की बढ़ती ख्याति को देख कर.

Advertisement

2005 मे याहू ने अली बाबा के 40% शेयर खरीदते हुए 1बिलियन डॉलर इन्वेस्ट कर दिये

और दोस्तों ये अलीबाबा के लिए बहुत बड़ी success थीं. और वहीं याहू के लिए ये एक बहुत फायदे की इन्वेस्टमेंट साबित हुई.

Jack-ma
Jack na biography

इसके बाद jack ma  ने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा और सफलता के नए मुकाम हासिल करते गए.

 

19 सितम्बर 2014 को अलीबाबा पब्लिक हो गया.
यानी की अब हर कोई अलीबाबा के शेयर खरीद सकता था.

और आप यकीन नहीं करोगे की अलीबाबा का यह पहला IPO दुनियां का सबसे बड़ा IPO इन्वेस्टमेंट बना.

Jack ma biography

यह देख जैक मा ने कहा की आज हमें ये लोगो के पैसे नहीं बल्कि उनका विश्वास मिला है.

लोगो के इस विश्वास को हम हमेशा मेंटेन करके रखेंगे.

इसके बाद जेक मा चाइना के सबसे रिचेस्ट आदमी बन गए.

जिनकी आज की नेटवर्थ है 25 बिलियन डॉलर. यानी एशिया के दूसरे सबसे अमीर इंसान.

 

Jack ma biography से हमने क्या सीखा ?

तो देखा दोस्तों. कैसे एक गरीब परिवार से निकल कर jack ma  जीवन की तमाम मुश्किलों को झेलता हुआ
सफलता का इतिहास रचा.

 

जानते हो वो ऐसा क्यों और कैसे कर पाया. इसका जवाब है. बुलंद हौसले. जिस वजह से वो हार नहीं मानते थे चाहे सिचुएशन कैसी भी हो.

 

हमेशा नए नए प्रयास करते रहते थे.

दोस्तों मुसीबते, परेशानिया हर किसी के जीवन मे आती है.

Jack ma के सफलता और जीवन संघर्ष से हमें यही सीख मिलती है की सफल वहीं हो पाता है जो बिना हार माने हिम्मत हारे आगे बढ़ता रहता है.

तो दोस्तों jack ma biography in hindi मे आपको क्या सीखने को मिला. उम्मीद करता हूं आपको jack ma जीवन से बहुत प्रेरणा मिली होगी. 

Advertisement

 

Jack ma की biography को ज़ादा से ज़ादा लोगो मे शेयर करो. 

 

सीने मे कामयाबी ( success) की आग लगा देने वाली  मन मे कामयाबी (success) का जुनून भर देने वाली खूब सारी  powerful motivational videos को देखने के लिए  👉यहाँ click करें 

 

👇दुनियां की सबसे प्रेरणादायक कहानियाँ जरूर पढे 👇

जीवन बदल देने वाली ज्ञान से भरी अद्भुत कहानियाँ जरुए पढे 👇

 

बच्चो के लिए बेहद ज्ञान सी भारी कहानियां जरूर पढे 👇

 

 

 

 

 

Advertisement

Leave a Comment