page contents
3-laughing-monks-story-in-hindi

3 laughing buddha moral story in hindi

3 laughing buddha moral story in hindi – आज हम आपको एक ऐसी अद्भुत ज्ञान से भरी कहानी बताने जा रहे है जो जीवन मे बहुत काम आएगी.

ये कहानी है 3 बुद्ध भिक्षुयों की जिन्हे आज दुनियां  दी 3 लाफिंग मोंक्स  के नाम  से भी जानती है.

क्योंकि ये तीनो भिक्षु मुंह से कभी एक शब्द नहीं निकालते,ना कोई शिक्षा देते ना कोई उपदेश बस सिर्फ हँसते ही रहते,इस तरह हँसते की मानो हंसना ही इनकी ज़िन्दगी का उदेश्य हों.

laughing-buddha-moral-story-in-hindi

इनकी हंसी मे ही इतनी शक्ति थी की हर कोई इनकी हंसी की तरफ आकर्षित होकर स्वयं भी हँसने लग जाता.वो बौद्ध भिक्षु ज़ब हंसना शुरू करते तो ऐसे हँसते की मानो वो उनके जीवन की आख़री हंसी हों.

 

 इनकी चमत्कारी हंसी की वजह से, आस पास के माहौल मे इतनी जबरदस्त सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता, की जो भी इस ऊर्जा के सम्पर्क मे आता तो वह भी अपनी हंसी को रोक ना पाता, जिसके साथ वहाँ मौजूद हर कोई कुछ समय के लिये मानो अपने हर दुख कष्टो को भूल गया हों.

इन तीनो महान भिक्षुओं के लिये इनकी हंसी ही इनका तप और साधना थी.

3 laughing buddha moral story in hindi

एक दिन ये 3 भिक्षु भृमण करते हुए एक गांव के बीचो बीच पहुंचे और वहाँ खड़े होकर जोर जोर से हँसने लगे.

वहाँ के लोग शुरू शुरू मे उन्हें हँसता हुआ देख कर,

उन्हें हैरानी भरे भाव देखने लगते.

लेकिन ज़ब वो रोज उन्हें जोर जोर से हँसते हुए देखते, तो वो ख़ुद भी अपनी हंसी नहीं रोक पाए और वह भी उन बौद्ध भिक्षुओं के संग हँसने लगे.क्योंकि वो बौद्ध भिक्षु दिल खोल कर हँसते थे उनके हँसने का अंदाज़ ही ऐसा होता, की हर कोई उस वक़्त तक अपने तमाम दुख व परेशानी को भूल कर, हसने पर मजबूर हों जाता.बस उन्हें देखता ही रहता.

देखते ही देखते कुछ दिनों मे भिक्षुओं के साथ हसने वालो की भीड़ बढ़ने लगी.

एक दिन ये हंसी गांव के लगभग हर इंसान के चेहरे पर खिलने लगी.

ये वो पल था ज़ब वो 3 भिक्षु बहुत दिनों बाद किसी गांव मे आए थे. इन भिक्षुओं की हंसी ही उनकी प्रार्थना थी क्योंकि वो किसी से एक शब्द भी नहीं बोलते थे.वो बस हंसी का माहौल बना देते थे.

पूरे चाइना मे उनको प्यार और इज़्ज़त मिलने लगी.

फिर एक दिन ऐसा भी आया ज़ब एक गांव मे तीनो भिक्षु मे से एक की मृत्यु हों गई….

 वहाँ जैसे ही गांव के लोगो को ये बात पता चली,..तो गांव के लोगो की भीड़ जमा होने लगी ये देखने के लिये, की बाकी के दो भिक्षु अब किस तरह का रिएक्ट कर रहे होंगे,इस वक़्त उनकी मनो दशा क्या होगी.

जरूर आज वो भी उदास होंगे ,आज हम ज़िन्दगी  मे पहली बार बाकी दोनों भिक्षुओ को रोता हुआ देखेंगे. अब सब लोगो का यहीं मानना था.

लेकिन, …..ज़ब धीरे धीरे लोगो की भीड़ उन भिक्षु के पास जमा होती गई सब वहाँ का दृश्य देख दंग खड़े थे.

 क्योंकि बाकी के दो भिक्षु, जमीन पर पड़े तीसरे भिक्षु की मौत पर जोर जोर से हंस रहे थे. लगातार बस हँसते ही जा रहे थे.

भीड़ मे खड़े एक व्यक्ति ने जिज्ञासावश पूछ ही लिया की ऐसे समय मे आप उदास होने के बजाय हंस क्यूँ रहे है.हालांकि वहाँ खड़ा हर व्यक्ति भी यहीं जानना चाहता था.

और अब,…..यह पहला समय था ज़ब उन हसने वाले भिक्षु मे से एक ने चुप्पी तोड़ी और शब्दों से जवाब दिया की हम इसलिए हंस रहे है, क्योंकि ज़ब हम इस गांव आरहे थे तब इस भिक्षु मित्र ने हमसे शर्त लगाई थी की कौन हम तीनो मे से बाकी दो को हराकर हसते हसते पहले मरेगा…ये भिक्षु, जीत गया…भिक्षु की यह बात सुन वहाँ मौजूद सभी लोग भावुक हों गए.

 इसके बाद रितिरिवाजो अनुसार जैसा क्रिया करम किया जाता है उसी तरह किया गया. जैसे मृत शरीर को धोना, उसके कपड़े बदलना और उनको जलाना. इत्यादि…लेकिन, जैसे ही कपड़े बदलने की बारी आई, तो दोनों भिक्षु मे से एक भिक्षु ने कहा की उनके कपड़े मत बदलो. क्योंकि मरने से पहले इस भिक्षु ने कहा था की मैंने कभी किसी गंदगी को,अपनी हंसी की मदद से अपने अंदर नहीं आने दिया. इसलिए मरने पर मेरे कपड़ो को मत बदलना…….

 इस तरह उस भिक्षु के शरीर को,  बिना कपड़े बदले जला दिया गया.

ज़ब उनकी चिता जलाई गई तब कुछ अजीब हुआ.

चिता से कुछ पटाखे फटने की आवाज़ आई, और देखते ही देखते वहाँ चारो तरफ चिता से निकल कर  खूबसूरत रंग बिरंगी रोशनी सी हुई.

 वो दृश्य इतना चमत्कारी था जिसे देख वहाँ मौजूद कोई भी व्यक्ति अपनी हंसी को रोक नहीं पाया, इस तरह वो भिक्षु मरने के बाद भी लोगो को हंसा गया.

बाद मे पता लगा की मरने वाले भिक्षु ने अपने कपड़ो मे कुछ पटाखे छुपा रखे थे ज़ब वो पटाखे अग्नि के सम्पर्क मे आए तो वहीं पर फट कर रंग बिरंगे रंगो मे चारो ओर फ़ैल गए.

ये देख कर दोनों भिक्षु ने कहा, मित्र!  तुम तो बहुत चालाक और महान निकले, एक बार फिर से तुमने हमें हरा दिया,, तुम्हारे द्वारा दी गई ये हंसी दुनियां मे सबसे खूबसूरत “आख़री हंसी” के नाम से जानी जाएगी.

 

3 laughing buddha moral story in hindi – कहानी से सीख 

दोस्तों इन 3 भिक्षुओं के जीवन की इस घटना से हमें ये सीख मिलती है की, जीवन, ईश्वर द्वारा दिया गया एक खूबसूरत वरदान है इसे खुल कर जी लो जिंदगी का कोई भरोसा नहीं,

जीवन को किसी भी तरह के दुख तनाव और बेवजह के अनैतिक आधर्मिक कार्यों एवं क्रियाओ मे व्यर्थ ना करो.

जो भी काम करो उसे इतनी शिद्द्त के साथ करो की हर कोई तुमसे प्रेरित होकर अपने जीवन को बदल सके. जीवन मे किसी भी तरह के तनाव से मुक्त होने का ये सबसे उत्तम तरीका है,क्योंकि दिल से निकली हंसी मन को सकारात्मक ऊर्जा से भर देती है.

जीवन मे हमेशा अच्छे और सद कर्म करते रहो क्यों की इन सबका जीवन पर बहुत से चमत्कारी प्रभाव पड़ते है.उम्मीद करता हूँ आज इस कहानी से अपने खूबसूरत ज्ञान अर्जित कर लिया होगा. हम अपने इस blog पर अद्भुत ज्ञान से भरी तमाम कहानियाँ लाते रहते है, हमसे जुड़े रहे.

3 laughing buddha moral story in hindi

Student के लिए moral story – ताबीज़ का सच्च

ज्ञान व शिक्षा से भरी अद्भुत कहानियाँ

बच्चो के लिए बेहद ज्ञान सी भारी कहानियां जरूर पढे 👇

रोचक और प्रेरणादायक कहानियाँ

 

 

 

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

chanakya niti ki anmol bate | चाणक्य शस्त्र Chanakya niti | झूठ बोलने वाली पत्नी chanakya niti | इन बातों को समझ गए तो रिश्ते कभी खराब नहीं होंगे chanakya niti hindi me chanakya niti | chanakya golden thoughts chanakya niti | life change quotes chanakya niti | इन 5 परिस्थितियों मे हमेशा चुप रहो chanakya niti | life change thoughts chanakya niti | चाणक्य के अनमोल वचन chanakya thoughts for life