page contents

best life change moral story hindi | मृत्यु नज़दीक है

best life change moral story hindi – दोस्तों स्वागत है आपका किस्से कहानियों इस रोचक दुनिया मे | यहाँ पर आपको motivational stories के साथ moral stories से मिलने वाले ज्ञान से रुबारू करवाया जाता है |

हमारी आज की कहानी है मृत्यु नज़दीक है | यह एक best life change moral story hindi है | दोस्तो आज की यह  कहानी आपकी बुरी आदतों को छोड़ने मे आपकी बहुत मदद  करेगी | 

 

दोस्तो इन कहानियों का जीवन मे बहुत महत्त्व होता है | क्योकि  इन कहानियों के माध्यम से  अक्सर हमे  कुछ ऐसा ज्ञान  हासिल हो जाता है जो हमारे जीवन की तमाम परेशानियों को खत्म कर देता है |

यहाँ पर बताई गई हर कहानी मे ज्ञान और शिक्षा छिपी हुई है | तो पढ़ते रहिए इन ज्ञान से भरी इन कहानियों (stories) को | hindi moral story

 

 

best life lesson moral story hindi

एक व्यक्ति था जो बहुत अमीर था लेकिन एक गंदी आदत की वजह से बहुत दुःखी था. वो व्यक्ति ज़ब 20 का था तब किसी गलत संगत मे पड़ गया था. इसी वजह से वो रोज सुंदर स्त्रियों के बारें सोचता, वासना मे डूबा रहता. 

ये उसकी रोज की आदत बन चुकीं थीं ना चाहते हुए उसके मन मे वासना भरे ख्याल आते जाते रहते. 

best-life-change-moral-story-hindi

वो व्यक्ति जानता था मन मे आरहे ये लोभ मोह  वासना भरे विचार मुझे मेरे विनाश की ओर लेजा रहे है.  

वो खुद इस आदत से त्रस्त था. इससे छुटकारा पाना चाहता था. 

 

फिर उसकी भेट एक बार एक बहुत बड़े संत से हुई. दुःखी व्यक्ति ने अपनी सारी व्यथा संत महाराज से कह डाली. 

 

सारी व्यथा सुनने के बाद महात्मा समझ गए की इसकी ये आदत ऐसे नहीं जाने वाली. 

महत्मा बोले – अपना हाथ दिखाओ. 

हाथ देखने के बाद महात्मा जी ने कुछ देर अपनी आँखे बंद की और आँखे खोलते हुए बोले की पुत्र तुम्हारे पास अब कम समय बचा है. तुम्हारे इन कुकर्मो की वजह से तुम्हारा शारीर और जीवन काल बहुत तेज़ गति से मृत्यु काल की तरफ भागता जा रहा है. 

 

वक्ती  घबराते हुए बोला – और कितने दिन शेष है मेरे जीवन के? 

महात्मा बोले – तुम्हारा शरीर अब चार सौ दिनों से अधिक जीवन नहीं सकता. 

 

व्यक्ति रोते हुए बोला की हे महात्मा आप ही बताओ क्या करें कोई रास्ता दिखाओ. 

 

महात्मा कुछ देर मौन रहने के बाद बोले –  एक रास्ता है ! जिसका ईमानदारी से पालन करके तुम अपनी उम्र सीमा और बढा सकते हो. लेकिन इसका तात्पर्य ये मत समझना की तुम अमर हो जाओगे. एक दिन तो नश्वर शरीर को खत्म होना ही है.  तुम्हारी ही तरह मुझे जीवन मे एसे कई लोग मिले हैं जो अपनी बुरी संगत की वझ से बुरी आदतों से घिर कर मृत्यु के नजदीक आ खड़े हुए थे तब उन्होने ने भी मेरे द्वारा बताए गए मार्ग पर जब ईमानदारी और सच्ची निष्ठा से चलना और जीना शुरू किया तो तो उन लोगो ने अपनी आने वाली अकाल मृत्यु पर विजय पा ली थी | अब तुम्हारी बारी है |  

 

व्यक्ति बड़ी लालसा एवम उत्सुकता से पूछता है, हे महत्मा बस आप रास्ता बता दीजिये, मै पूरी निष्ठां ईमानदारी से पालन करूंगा. 

 

महत्मा बोले – वो रास्ता है धर्म का और नेकी का. जो भी इंसान  पूरी निष्ठां और आस्था से निःस्वार्थ होकर इस रास्ते पर चला है उसका सदैंव कल्याण ही हुआ है उसके जीवन मे शुभ और मंगल ही हुआ है. 

 

तुम रोज सुबह शाम भगवान शिव की आराधना करो और महामृत्युंजय मन्त्र का जप करो. जितना हो सकें दान करो भूखे को भोजन करवाओ. तुम्हारा कल्याण होगा. जीवन पर आया हर संकट कट जाएगा. 

 

अब व्यक्ति को बस अपना जीवन बचाना था.. उसने रोज वो करना शुरू कर दिया जो भी महात्मा ने बताया दान पुण्य, पूजा पाठ, सच्चे मन से ईश्वर का सुमिरन, लोगो की निःस्वार्थ सेवा….सब करने लगा. 

 

यानी ज़ब से वो व्यक्ति महात्मा जी से मिला तब से अब तक एक बार भी उसके मन मे वासना भरे कोई बुरे विचार आए ही नहीं. धर्म और नेकी के रास्ते पर चलते हुए वो व्यक्ति जीवन मे  इतना व्यस्त हो गया की उसके जीवन मे इतना अद्भुत  परिवर्तन आने लगा  की सब कुछ पहले जैसा हो गया. 

 

उसकी मृत्यु निकट है महात्मा जी ने ऐसा  झूठ बोला ,ताकी वो इस डर की वजह से ईमानदारी से अपना कार्य कर सकें. 

जबकि सच्च तो यह है की महात्मा जी उसे व्यस्त करना चाहते थे इतना व्यस्त की उसका मन उन गंदे विचारों की तरफ जा ही ना सकें. 

 

देखते ही देखते 4 सौ दिन बीत गए, वो व्यक्ति बिलकुल सही था. मृत्यु के डर से और अधिक जीवन जीने की लालसा लिए वो व्यक्ति आपने धर्म कर्म मे लगा रहा. एक बार भी उसके मन मे वो बुरे ख्याल नहीं आए. उसका जीवन मंगलमय हो चुका था. 

जीवन मे बुरी आड़ते हों या बुरे कर्म हर चीज़ की शुरुआत मन मे आने वाले विचारो से आरंभ होती है | मन मे बुरे विचार ना आए इसके लिए अपने मन को लंबे समय तक दूसरे आचे कार्यों मे लगातार व्यस्त रखना होगा जिससे हमारा मन धीरे धीरे अच्छे कार्यो की तरफ जान शुरु कर देगा हमारे मन मे सिर्फ अच्छे विचारो का ही जन्म होगा हमारा मन बुरे विचारो की तरफ जाना बंद कर देगा |

best life change moral story hindi से सीख 

दोस्तों ये कहानी हमें सीख देती है की मृत्यु एक अटल सत्य है और ये नश्वर शरीर एक दिन खत्म हो जाएगा. जीवन का समय निश्चित है लेकिन मृत्यु कभी भी आ  सकती है. 

इसलिए ज़ब तक जीवन है, नेकी की राह पर चलते हुए अच्छे कर्म करते रहिये आपका कल्याण होगा. 

इस कहानी हमें ये सीख मिलती है की हमारा मन ज़ब बुरे और नकारात्मक विचारों से भरने लगे तो इसका एक ही उपचार है वो है सकारात्मक मन. 

 

और मन मे लगातार  सकारात्मक विचार तब तक पनपते रहेंगे ज़ब तक हम निःस्वार्थ होकर अच्छे कर्म करते रहेंगे. अच्छे कर्मो मे वो अरबो छोटे बड़े कर्म आते है जिन्हे करके हमारा मन सतुष्टि को अनुभव करता है जिससे सकारात्मक ऊर्जा का अनुभव होता है. 

 

तो दोस्तों ये best life change moral story hindi आपको कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताना. ऐसी ही ज्ञान से भरी और भी शिक्षा प्रद कहानियाँ पढ़ने के लिए चुनाव करें.

 

दोस्तों हमारी  हमेशा से यही कोशिश रहती है की हम  इस blog पर आपके लिए ज्ञान और शिक्षा  से भरी ऐसी ही तमाम कहानियाँ लाते रहे जिससे आपका ज्ञान बढ़ सके , बौद्धिक विकास हो सके ,जीवन मे सही फैसले ले सके , आप जीवन मे आगे बढ़ सके , मन मे सकारात्मक  विचारो का जन्म हो और  आपके सुंदर चरित्र का निर्माण हो ताकि आप आगे चल  कर  सुंदर परिवार और समाज का निर्माण कर सके |

हम चाहते है की यह कहानियाँ जादा से जादा लोगो तक पहुंचे ताकी वह भी इसका पूरा लाभ उठा सके इसलिए आप इन कहानियों को social media की मदद से अपने सभी दोस्तों मे अवश्य शेयर करे | आपका  ये छोटा सा प्रयास कई लोगो की जिंदगी भी बदल सकता है |

 

जरूर पढ़े –

जीवन बदल देने वाली ज्ञान से भरी अद्भुत कहानियाँ जरुए पढे 👇

 

बच्चो के लिए बेहद ज्ञान सी भारी कहानियां जरूर पढे 👇

 

👇दुनियां की सबसे प्रेरणादायक कहानियाँ जरूर पढे 👇

रोचक कहानियाँ 

 

 

भगवान बुद्ध की ज्ञान से भरी शिक्षाप्रद कहानियाँ 

 

महात्मा बुद्ध और भिखारी की अद्भुत कहानी 

Buddha-moral-story

जरूर पढ़े – दान का फल – ज्ञान से भरे धार्मिक कहानियों का रोचक सफर-

religious-stories-in-hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *