page contents

ayushman nayak invention hindi

ayushman nayak invention hindiदोस्तों भारत मे अब भी 100 मे 25% लोग ही ऐसे है जो ना सिर्फ  पर्यावरण के प्रति सजग है बल्कि अपनी जिम्मेदारियों को भी निभाते है. 

 

पानी पर्यावरण जा सबसे जरुरी हिस्सा है. लेकिन जिसको पानी पूरी तरह से उपलब्ध हो रहा है वो इसकी क़ीमत को समझ नहीं रहा. जिसके चलते आए दिन कई लीटर पानी वेस्ट कर देता है. 

 

पूरे भरत मे करोड़ो लोग ऐसे भी है जो नए नए ideas पर विचार करते रहते है की रोज मर्रा की जिंदगी मे वेस्ट होने वाले 100 से 200 लीटर पानी को कैसे दोबारा से प्रयोग मे लाया जा सकें. 

 

क्योंकि जुगाड़ लगाकर वो लोग हद से हद वेस्ट हो रहे पानी का भंडारण कर ही लेंगे पर सबसे  बड़ी समस्या ये आजाती है की उस गंदे पानी को दोबारा उपयोग लायक कैसे बनाया जाए. 

 

तो इसी समस्या का हल निकाल डाला है मात्र 13 साल के भारतीय लड़के ने. ayushman nayak invention

ayushman-nayak-invention

जी हाँ आयुष्मान नायक ने अपने क्रिएटिव ideas से बना डाली एक ऐसी वाशिंग मशीन जो गंदे पानी रसाईकल करके फिर से उपयोग मे ला सकती है. 

 

तो चलिए जानते ये सब कैसे हो पाया, 

 

Ayushman Nayak invention hindi |अद्भुत अविष्कार 

Ayushman Nayak  उड़ीशा के भुवनेश्वर के रहने वाले है. 

इनका जन्म एक माध्यम वर्गीय परिवार मे हुआ. इनके पिता का नाम समावेश नायक है जो की एक स्कूल मे प्रशानिक अधिकारी है. माता जी हाउस वाइफ है.

ayushman Nayak के पिता समावेश नायक पर्यावरण के प्रति बहुत सजग है. 

 

यही वजह है की रोज Ayushman Nayak के घर पर्यावरण और पानी जैसे मुद्दों पर रोज चर्चा होती थीं. यानी घर पर  एक ऐसा माहौल बन चुका था जिसके परिणामस्वरूप मन मे पर्यावरण और पानी की परेशानियों के प्रति तरह तरह के ideas का आना तो तह था. 

 

Advertisement

तो  Ayushman Nayak के मन मे भी ऐसे ideas बार बार आते की कैसे गंदे पानी को दोबारा रिसाइकल किया जा सकें. 

 

जिसके चलते Ayushman Nayak कुछ ideas आए और उन ideas को इम्प्लीमेंट करने कर लिए उस पर दो साल पहले से ही जानकारी जुटा कर काम करना शुरू कर दिया. 

 

पिता जी ने भी पूरी मदद की, दो साल तक तमाम कोशिशों के बाद  Ayushman Nayak ने वो फिल्ट्रेशन सिस्टम तैयार कर दिया जिसके द्वारा एक बार मे 90 से 100 लीटर पानी रिसाइकल कर फ़िल्टर किया जा सकता है. 

 

ये सिस्टम उन्होंने अपने वाशिंग मशीन मे फ़िट कर दिया. ऐसा कह  सकते है की वाशिंग मशीन को मोडिफाइड करके ऐसा किया. 

 

अभी आयुष्मान नायक 15 वर्ष के हो चुके है. 

 

कैसे करता है गंदे  पानी को साफ – ayushman nayak invention 

 

इसने एक ऐसी वाशिंग मशीन बनाई जिसमे गंदे डिटर्जेंट वाले  पानी को रिसाइकल किया जा सकता है. 

 

इस वाशिंग मशीन मे तीन ऐसी फिल्ट्रेशन लेयर मौजूद है जिसमे गन्दा पानी जाकर कुछ ही समय बाद साफ पानी बन कर बाहर निकलता है.

 

20 वर्ष के लिए मिला पेटेंट राइट –

 

केंद्र सरकार की तरफ से उन्हे 20 साल वाला इंटलेक्चुअल प्रापर्टी का पेटेंट  राइट भी मिला है. 

 

इससे पहले साल 2017 मे इसी अविष्कार के लिए उन्हें NIF  की तरफ से एपीजे अब्दुल कलाम इग्नाइटेड अवार्ड से भी सम्मानित किया जा चुका है. 

Advertisement

 

निष्कर्ष 

बच्चों को यदि पर्यावरण के प्रति प्रशिक्षित किया जाए उनके साथ पर्यावरण से जुड़ी सभी छोटी बड़ी समस्याए साँझा की जाए तो शुरू से ही उन्हें पर्यावरण के प्रति सजग रखा जा सकता है. 

 

ऐसा करने से वह भविष्य मे पर्यावरण के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को बखूबी समझेंगे और निभाएंगे. 

 

दोस्तों जैसा की आप सभी जानते है की भारत के जादातर इलाकों मे पीने लायक साफ और स्वच्छ जल की मात्रा ना के बराबर रह चुकीं है. 

 

तो दोस्तों सोच कर देखो यदि आयुष्मान की तरह और भी बच्चे अपने क्रिएटिव ideas से ऐसे ही अविष्कार करने लग जाए तो पर्यावरण को कितना सुरक्षित रखा जा सकता है. 

भविष्य मे गंदे पानी को पीने वाले जल जितना शुद्ध बनाया जा सकेंगा जिससे पीने के पानी को लेकर मारा मारी नहीं होगी. 

 

लेकिन यह तो तभी सम्भव हो पाएगा ज़ब बच्चो को पर्यावरण के प्रति प्रशिक्षित किया जाएगा. 

 

तो दोस्तों यह ayushman nayak invention पोस्ट आपको कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताना. 

इस पोस्ट को ज़ादा से ज़ादा शेयर करें ताकी बाक़ी लोग भी इस पोस्ट को पढ़ कर पर्यावरण के प्रति सजग हो सकें अपनी जिम्मेदारी को समझ सकें. 

 

 

जरूर पढ़े – success story जिद्द और कामयाबी की अद्भुत दास्तां

 

👇दुनियां की सबसे प्रेरणादायक कहानियाँ जरूर पढे 👇

जीवन बदल देने वाली ज्ञान से भरी अद्भुत कहानियाँ जरुए पढे 👇

 

Advertisement

बच्चो के लिए बेहद ज्ञान सी भारी कहानियां जरूर पढे 👇

 

 

Advertisement

Leave a Comment