page contents

best Life change moral story hindi | जादूगर के विचार

नमस्कार दोस्तों ! मै हरजीत मौर्या आज फिर से आपके लिए Life change Moral story लेकर आया हूं. 

दोस्तों अगर आप जीवन मे आने वाली छोटी बड़ी परेशानियों हर बार चिंतित रहते हो सोच सोच कर दुःखी होते रहते हो. तो  5 मिनट ये पोस्ट आपके लिए वरदान सिद्ध होने वाली है. 

आखिर तक इस life change moral story को पढ़े.

जादूगर के विचार |life change moral story

Life-change-moral-story

एक जमाने मे एक जादूगर हुआ, जो बड़े ही  सकारात्मक विचारों का व्यक्ति था उसका, जीवन को जीने का नजरिया ही बड़ा अद्भुत था, जिंदगी मे कितने भी बड़े से बड़ी दुःख परेशानिया आए, जादूगर के मन पर इसका कोई खास प्रभाव पड़ता था. 

 

जादूग़र  के किस्से दूर दूर तक फैलने लगे. 

 

 जादूगर के जादूगरी का किस्सा ज़ब उस राज्य के राजा तक पहुंचा. 

 

तो राजा ने जादूगर को बुलवाया, और बोला की ऐ जादूगर कोई ऐसा जादू दिखाओ जो आज तक ना दिखाया हो. 

 

जादूगर मन ही मन सोचने लगा की  ये तो बहुत अच्छा मौका है. राजा साब ग़र मेरे जादू से खुश हुए तो बहुत बड़ा इनाम देंगे. 

 

अब कौन सा जादू दिखाए, सब जादू तो दिखा दिये कोई बेहतरीन जादू दिखाना पड़ेगा. 

 

तो जादूगर ने वहाँ मौजूद सभी के सर से पगड़ी गायब कर दी.. सिर्फ यही नहीं राजा का मुकुट भी  गायब कर दिया. 

 

अब मुकुट तो राजा की शान होती है. 

राजा ने इसे अपनी तौहीन समझा. क्रोध वश राजा ने अपने मंत्री को बोला की इस जादूगर को कारागार मे डाल दिया जाए और आज से 7 दिन बाद इसे फांसी दे दी जाए. 

Advertisement

 

जादूगर को कारागार मे डाल दिया गया.

 

इतनी बड़ी सजा का ऐलान हुआ लेकिन जादूगर के चेहरे पर ज़रा सि भी उदासी तक नहीं. 

 

पत्नी तक ये खबर पहुंची. 

रोते रोते जादूगर की पत्नी जादूगर को मिलने आई. जादूगर के चेहरे पर मुस्कराहट को देख कर पत्नी हैरानी भरे भाव से बोली – अरे ये क्या ! तुम हस रहे हो…. पागल  तो नहीं हो गए, मानसिक संतुलन तो ठीक है आपका…. सात दिन बाद तुम्हे फांसी दे दी जाएगी. और तुम हस रहे हो? 

 

जादूगर बोला – हंसू नहीं तो और क्या करू…. जो होना है वो सात दिन बाद होगा तो उसके बारे अभी से सोच सोच कर अपने वर्तमान समय को क्यों बर्बाद करू. मै नहीं सोचता की भविष्य मे क्या होगा और कल किसने देखा,  

 

पत्नी बोली,  आप पागल हो चुके हो… मौत सर पर मंडरा रही है और तुम पागलो जैसी बातें किये जा रहे हो. अरे राजा से अपनी जिंदगी की भीख मांगो. 

जादूगर बोला, नहीं ऐसा नहीं होगा, क्योंकि मुझे नहीं लगता की मैंने गलती की है राजा को समझना चाहिए था लेकिन राजा ने अपने व्यक्तिगत क्रोध मे आकर मुझे ये सुना सुना दी. ….

 

पत्नी बोली, अरे अपने लिए ना सही कम से कम हमारे बच्चो के लिए….. जादूगर हसते हुए बोला – अरे रोटी क्यूँ हो,  ठीक है मै कोई उपाय निकाल लूंगा..अब तुम यहां से जाओ.   

 

इधर समय बीतता गया और आखिरकार जादूगर को फांसी देने का दिन आही गया. राजा को घोड़े पर अपनी तरफ आता देख अचानक जादूगर के दिमाग़ मे घोड़े को लेकर एक तरकीब आई. 

 

अब राजा जैसे ही जादूगर के पास पंहुचा तो राजा ने देखा की जादूगर बहुत उदास खड़ा है रो रहा है.. राजा बोला अरे ये क्या ! तुम रो रहे हो? 

 

फांसी से पहले 6 दिन तो तुमने बड़ी हसीं ख़ुशी गुज़ारे थे तो आज कैसे तुम्हारे आंसू फूट फूट कर निकल रहे अब तक डर नहीं लगा और अब मौत से घबरा रहे हो मरने से डर रहे हो. 

Advertisement

 

जादूगर आंसू पोछते हुए बोला नहीं महाराज, मै मरने से नहीं डर रहा, एक बहुत बड़े अफ़सोस की  वजह से रो रहा हूं. 

 

राजा बोला – अफ़सोस?   कैसा अफ़सोस. 

 

जादूगर बोला ,  महाराज… मै बहुत समय से हवा मे उड़ने वाला घोड़ा बना सकू ऐसा जादू सीख रहा था. वो जादू आधा सीख चुका था. 

लेकिन अफ़सोस की वो जादू अब अपने साथ लेकर मरूंगा. 

 

यह सुन राजा सोचने लगा की ये तो बहुत काम का जादू सिद्ध हो सकता है मेरे लिए, उड़ने वाले घोड़े का उपयोग मै युद्ध मे कर सकता हूं और हर युद्ध को आसानी से जीत सकता हूं. 

 

राजा बहुत उत्त्सुकता से बोला – अच्छा ! क्या तुम पूरे विश्वास से कह रहे हो, 

 

जादूगर बोला हाँ – हाँ महाराज, मै एक साल मे इस जादू को पूरी तरह सीख जाऊंगा और उड़ने वाला घोड़ा बना लूंगा. 

 

राजा बोले – चलो ठीक है हम तुम्हे एक साल का वक़्त देते है ग़र सच्च मुच तुमने अपने जादू से  उड़ने वाला घोड़ा बना दिया तो हम तुम्हे सजा से मुक्त कर देंगे. और ग़र नहीं कर पाए तो उसी ही दिन तुम्हे मौत के घात उतार दिया जाएगा. 

 

अब जादूगर मन ही मन बहुत खुश हुआ, और वहाँ से अपने घर की  तरफ चला गया.

 

इधर घर पर जादूगर के मरने का मातम मनाया जा रहा था सभी नाथ रिश्तेदार घर पर मौजूद थे, सब रो रहे थे. 

 

Advertisement

इतने मे जादूगर ज़ब घर पंहुचा तो सब  हक्के बक्के रह गए. जादूगर ने बोला मेरी सजा राजा साब ने माफ कर दी अब  आप सब लोग अपने अपने घर प्रस्थान करें. सभी लोग चले गए 

 

इधर जादूगर की पत्नी बहुत उत्सुकता से पूछी की ये चमत्कार कैसे हुआ?  जादूगर ने बताया की मै राजा जी से ये वादा करके आया हूं की एक साल मे अपने जादू से उड़ने वाला घोड़ा बना दूंगा. 

 

पत्नी माथा पीटते हुए बोली – की अरे,,, हे भगवान क्या होगा इस आदमी का, ये क्या वादा कर आए हो … हम लोग उड़ने वाला घोड़ा नहीं बना सकते. 

 

जादूगर फिर से मुस्कुराते हुए बोला  – हाँ – जानता हूं, की हम उड़ने वाला घोड़ा नहीं बना सकते. लेकिन उससे क्या मुझे तो एक साल की मोहलत और मिल गई. अब मजे से life को enjoy करूंगा. एक साल तक और अपने परिवार का पेट पाल सकूंगा ख्याल रख सकूँगा. हाहा अरे भविष्य मे क्या होगा क्या नहीं इस बारे सोच कर मै अपना वर्तमान समय बर्बाद नहीं कर सकता. 

और रही बात मरने की तो एक दिन तो सबको जाना है. जीवन मृत्यु ईश्वर के हाथ मे. 

 

एक साल बाद पति नहीं रहेंगे आगे क्या होगा.  ये सोच सोच कर पत्नी हर वक़्त चिंतित रहती. 

 

6 महीने बाद किसी वजह से राजा की मौत हो जाती है. अब कौन सा राजा कौन सि फ़ासी सब खत्म हो जाता है.

 

 पत्नी की खुशि का ठिकाना नहीं. पत्नी मन ही मन बोली की “ये क्या”….मेरे मन मे कितने उलटे सीधे ख्याल आरहे थे,  इतने दिन मै.. फालतू मे इतना परेशान रही, जबकि सब ठीक हो गया मानो कुछ हुआ ही नहीं था. पत्नी समझ गई की सबसे बड़ा जादूगर तो हमारा मन होता है. 

 

यानी जादूगर की हर बात सही निकली की life मे क्या होगा क्या नहीं अच्छा होगा या या बुरा कुछ पता नहीं. लेकिन हमारी सोच, मानसिकता,  ये एक सेकेंड मे डिसाइड कर देती है की हम आने वाले पलो मे खुश रहेंगे या दुःखी. 

 

उम्मीद करता हूं life change moral story से आप आज बहुत कुछ सीखे होंगे.

तो चलिए दोस्तों जानते है इस life change moral story से हमें क्या सीख मिलती है.

जी हाँ दोस्तों…. 

फालतू के चक्रों मे पड़ कर. ना जाने कैसी कैसी परेशानिया पाल रखी है लोगो ने अपनी जिंदगी मे. 

Advertisement

किसी भी पल जिंदगी मे कुछ भी हो सकता ये जानते हुए भी,

धरती के 90% इंसान छोटी बड़ी समस्याओं के बारे बार बार चिंता करके अपनी life के उन हज़ारो पलो को बर्बाद कर देते है जिनको वो आनंदमई तरीके से जी सकते थे…… 

 

असल मे दुःख परेशानियों की वजह जीवन मे आने वाली तक़लीफ़े नहीं अपितु हमारे विचार होते है. 

जिंदगी मे दुःख परेशानिया आती जाती रहेंगी. लेकिन इन परेशानियों को अपने मन पर हावी मत होने दो. 

 

यदि आप हर वक़्त जीवन को एक सकारात्मक नजरिये से जीना शुरू करेंगे तो जीवन की कोई भी परेशानी आपको अपनी तरफ आकर्षित नहीं कर सकती. 

 

यदि जीवन के हर पल का आनंद उठाना चाहते तो दोस्तों अभी से जीवन को सकारात्मक दृष्टि से देखना और जीना  शुरू कर दो. 

इन्हे जरूर पढ़े 

 

ज्ञान से भरी अद्भुत कहानियाँ 

 

 

 

 

Advertisement

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *